टैलेंटिका ब्यूटी पेजेंट की तरफ से कॉम्पटीशन में...

ग्वालियर की खुशबू बनी मिसइंडिया ग्लोबल विनर

ग्वालियर मॉडलिंग फील्ड में अपनी प्रतिभा से कई उपलब्धियां हासिल कर चुकी, आईटीएम यूनिवर्सिटी ग्वालियर की मैनेजमेंट स्टूडेंट खुशबू सिंह ने हाल ही में मिस इंडिया ग्लोबल ब्यूटी पेजेंट में फर्स्ट रनर अप का खिताब अपने नाम किया है। खास बात यह है कि उन्हें सभी प्रतिभागियों में से सबसे ज्यादा टाइटल भी मिले हैं। टैलेंटिका ब्यूटी पेजेंट की तरफ से गोवा में हुए इस कॉम्पटीशन में देश की 19 प्रतिभागियों ने अपनी भागीदारी दर्ज करवाई थी। इस कॉम्पटीशन के लिए कई राउंड हुए, उसमें खासकर एथनिक, स्टेट कास्ट्यूम, टूरिज्म, हेरीटेज, बीच वीयर शूट, प्री शूट्स आदि शामिल रहे। इसके अलावा पर्सनल इंटरव्यू भी रखा गया और सॉशल वर्क के बारे में बताने का राउंड भी रखा गया। इसमें खुशबू ने मिस नेशनल कास्ट्यूम, मिस पॉपुलर, मिस सोशल वर्क, मिस टूरिज्म टाइटल जीता और मिस फोटोजनिक में टॉप 5 का टाइटल जीता। खुशबू ने बताया कि इस कॉम्पटीशन में भाग लेने के लिए पहले ऑनलाइन फिनाले में उनका सिलेक्शन हुआ। जिसमें वीडियो बनाकर भी भेजा गया था, उसके बाद इंटरव्यू के बाद विनर रहने पर गोवा में होने वाली इस प्रतिययोगिता में खुशबू सिंह ने मध्यप्रदेश-बुंदेलखंड का प्रतिनिधित्व किया। 

इस उपलब्धि में मेरे पैरेंट्स के अलावा आईटीएम यूनिवर्सिटी ग्वालियर के प्रो चांसलर डॉ दौलत सिंह चौहान से मिली प्रेरणा ने बेहद अहम भूमिका निभाई। साथ ही शो डायरेक्टर शिवा दादा और संस्कार सिंह, युवराज सिंह, वंदना दोहरे, गौरव सरोदिया आदि ने बहुत सहयोग किया। खुशबू बताती हैं कि फाइनल राउंड में नेशनल कॉस्ट्यूम राउंड रखा गया। इसमें मैंने 30 किलो का लहंगा, जो मृगनयनी थीम पर था, उसे पहनकर वॉक किया। यह कॉस्ट्यूम चंदेरी से तैयार और ब्रोकेड वर्क का था। इसमें बैक गियर भी ग्रीन रेड कलर से बनाया था जो वुमन एम्पावरमेंट, इंटर्नल पॉजीटिविटी और फियरलैस को दर्शाता है। इसमें वे विजेता रही। इसके साथ ही स्टेट कॉस्ट्यूम राउंड में मैंने हैंडलूम से तैयार यलो चंदेरी साड़ी पहनी। साथ ही बुंदेलखंड की हसली व अन्य लोककला को प्रदर्शित करती ज्वैलरी पहनी। पैरों में सिर्फ खड़ाउ पहनकर मैंने रैम्पवॉक किया। मिस इंडिया ग्लोबल में विजेता बनने के बाद अब जून में होने वाले मिस टूरिज्म वर्ल्ड की तैयारी में जुटी हूं। खूशबू कहती हैं कि इसमें मैं विभिन्न देशो के बीच इंडिया को रिप्रजेंट करने वाली हूं। हालांकि हाल ही में हुए कॉम्पटीशन में मैं मिस टूरिज्म का खिताब भी जीत चुकी हूं। मैंने 2017 से मॉडलिंग शुरू की। सबसे पहले मैंने यूनिवर्सिटी में ही फ्रेशर्स पार्टी में रैम्प वॉक किया और तबसे मैंने सोच लिया था कि मुझे यही कॅरियर अपनाना है। 

उसके बाद मैंने कई ब्यूटी पेजेंट और शॉज करें, जिसमें मुझे काफी सराहा गया। इसमें मैेंने 2017 में मिस स्टायल वॉक, मिस फ्रेस फेस, 2018 में मिस विट्रिन, मिस बेस्ट पर्सनालिटी, 2019 में मिस क्रोमा, सेंट्रल इंडिया नेक्स्ट टॉप मॉडल, 2020 में मिस मध्यप्रदेश-बुंदेलखंड जीतकर उपलब्धि हासिल की। यहां तक पहुंचने का सफर आसान नहीं था लेकिन मेरे पैरेंट्स के सपोर्ट की वजह से ये सब मुमकिन हो पाया। मैंने हाल ही में अपनी ग्रेजुएशन कम्पलीट की है। मेरा सपना है कि मैं बदलाव की पहल में अपने पहले कदम के रूप में अपने प्रोेजेक्ट मेंस्ट्रूअल हाइजीन मैनेजमेंट को नेशनल लेवल पर काम करू। जिस पर मैं अभी काम कर रही हूं अभी तक मैं आठ से ज्यादा गांवों जाकर इस पर बात कर चुकी हूं और मैं टारगेट ’मैन्स टू फाइट अगेंस्ट द टैबू’ । हम बदलाव चाहते हैं लेकिन आएगा कैसे इसलिए अगर आप बदलाव चाहते हैं तो उसका इंतजार मत करो कि हो जाएगा उस बदलाव का हिस्सा बनों और उसकी पहल करो और मैं सिर्फ एक ही मैसेज देना चाहती हूं। कुछ भी इम्पोसिबल नहीं है मैं चाहती हूं कि हर एक लड़की मुझे देखकर ये जाने कि वो कुछ भी कर सकती है। अगर वो चाहे सिर्फ जरूरत है तो खुद पर भरोसा, लगन, संयम की।