नशे को जड़ से खत्म करने का लिया संकल्प...

नशा, परिवार के साथ राष्ट्र को भी खोखला बनाता है : राजीव सिंह

ग्वालियर। रमन शिक्षा समिति एवं सामाजिक न्याय विभाग के संयुक्त तत्वाधान में आज नशामुक्त भारत अभियान के अन्तर्गत ब्लाॅक स्तरीय मास्टर वाॅलियन्टर के प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन ठाटीपुर पर किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सामाजिक न्याय विभाग के संयुक्त संचालक राजीव सिंह थें। कार्यक्रम की अध्यक्षता जगतगुरू आनन्देश्वर महाराज ने की। कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप मेें पूर्व संयुक्त संचालक आर.पी.सिंह, महिला बाल विकास के परियोजना अधिकारी सुनील शर्मा, महावीर खटीक, नगर निगम के समग्र सामाजिक सुरक्षा विस्तार अधिकारी पूर्वी अग्रवाल, कु. प्रीति मौर्य, अनुज शिवहरे, हेमेन्द्र कुशवाह एवं जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक धर्मेन्द्र दीक्षित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा माॅ सरस्वती जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर व दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम के शुभारंभ में संस्था अध्यक्ष हरिओम गौतम ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा सभी के समक्ष प्रस्तुत की। 

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुये राजीव सिंह ने कहा कि इस प्रकार के कार्यकृमों का उदेश्य समाज के सभी वर्गो में बढती हुई नशा सेवन की प्रवृत्ति की रोकथाम एवं नशीले पदार्थो के दुष्परिणामों से लोगों को अवगत कराना है, ताकि मादक द्रव्य एवं मादक पदार्थो के सेवन की बढती प्रवृत्ति से युवा पीढी को बचाया जा सके। उन्होनें कहा कि नशा, परिवार के साथ-साथ राष्ट्र को भी खोखला तथा कमजोर बनाता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहै जगतगुरू आनन्देषश्वर महाराज ने कहा कि नशा एक सामाजिक बुराई है, नशा व्यक्ति को शारीरिक, आर्थिक तथा मानसिक तीनों रूप से खत्म कर देता है, इसलिए हम सभी को नशे से दूर रहना चाहिए। उन्होनें युवा पीढ़ी में बढ़ती नशे की लत पर चिंता जाहिर की, उन्होनें कहा कि युवा, कल के देश का भविष्य है इसलिए हमें युवाओ को नशे से दूर करना होगा। 

इस अवसर पर पूर्व संयुक्त संचालक आर.पी.सिंह ने कहा कि नशा समाज को खोलखा बना रह है। तम्बाखू, सिगरेट शराब के कारण शरीर में कई जानलेवा बीमारियाॅ पैदा हो जाती है। परियोजना अधिकारी सुनील शर्मा ने कहा कि नशे की वजह से कैंसर जैसी घातक बीमारी होती है जो लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रही है, इसलिए हम सभी को जीवन में कभी भी किसी प्रकार का नशा न करने का संकल्प लेना चाहिए। पूर्वी अग्रवाल ने कहा कि नशा आज युवाओं में अमरबेल की तरह फैल रहा है। इस अवसर पर कु. प्रीति मौर्य,  अनुज शिवहरे, हेमेन्द्र कुशवाह एवं धर्मेन्द्र दीक्षित नें भी अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर सभी चयनित ब्लाॅक स्तरीय मास्टर वाॅलियन्टर उपस्थित थे। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संयुक्त संचालक राजीव सिंह द्वारा जीवन में कभी भी किसी भी प्रकार का नशा न करने की शपथ दिलाई गई।