वेब सीरीज निर्माताओं से मांगा जवाब...

अमेजन प्राइम को सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस

नई दिल्ली। अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई वेब सीरीज (तांडव) को लेकर विवाद अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि इसी बीच (मिर्जापुर) वेब सीरीज के निर्माताओं व अमेजन प्राइम वीडियो को सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी किया है। याचिका में कहा गया है कि वेब सीरीज में उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले की गलत छवि दिखाई गई है। कोर्ट ने इसे लेकर ओटीटी प्लेटफॉर्म और वेब सीरीज निर्माताओं से जवाब मांगा है। 

सीजेआई एसए बोबड़े, जस्टिस एएस बोपन्ना और वी रामा सुब्रमण्यम की बेंच ने नोटिस जारी किया है। मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने मामले में एक संक्षिप्त सुनवाई की इसके बाद केंद्र, एक्सेल एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड और अमेजन प्राइम वीडियो को नोटिस जारी किया। सुजीत कुमार सिंह के वकील बिनय कुमार दास ने याचिका दायर की। 

याचिका में कहा गया है कि यह मिर्जापुर की लगभग 30 लाख आबादी और समृद्ध संस्कृति का अपमान है। याचिका में कहा गया है कि सरकार को किसी शहर के ऐतिहासिक और सांस्कृतिक मूल्यों के खराब चित्रण पर रोक लगाने के लिए भी कई दिशानिर्देश बनाने चाहिए। मिर्जापुर एक ऐसी जहग है जहां गंगा नदी विंध्य रेंज से मिलती है। विश्व प्रसिद्ध विंध्याचल मंदिर, जो भारत में 108 शक्ति पीठों में से एक है मिर्जापुर जिले में स्थित है फिर इन सभी अच्छी बातों को नजरअंदाज करते हुए सीरीज में खराब साइड को ही दिखाया गया है।