श्री सक्सेना ने कलेक्टरों से वीसी के माध्यम से की चर्चा…

जिला अस्पताल से उप स्वास्थ्य केन्द्र तक की संस्थाओं का होगा कायाकल्प : संभागायुक्त 

ग्वालियर। स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने तथा अस्पतालों से आम जनों को जोड़ने के लिये ग्वालियर-चंबल संभाग में हमारा अस्पताल नं.-1 तर्ज पर एक अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इस अभियान का उद्देश्य शासकीय अस्पतालों की सेवाओं को और बेहतर करना है। स्वास्थ्य सेवाओं और अस्पतालों की व्यवस्थाओं के उन्नयन हेतु सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से कायाकल्प अभियान चलाया जायेगा। यह अभियान जिला स्तर से उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर तक की स्वास्थ्य संस्थाओं के उन्नयन हेतु संचालित किया जायेगा। संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना की पहल पर ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में यह अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिला कलेक्टरों और स्वास्थ्य से जुड़े अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा करते हुए अभियान की रूपरेखा बताई और सभी जिलों में अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन की बात भी कही। उन्होंने कहा कि हमारा अस्पताल नं.-1 बनाने के लिये शासकीय प्रयासों के साथ-साथ स्वयंसेवी संस्थाओं को जोड़ा जायेगा।

प्रत्येक जिले में 52 स्वयंसेवी संस्थाओं को जोड़कर हर सप्ताह अस्पताल के उन्नयन हेतु कार्य किया जायेगा।  उन्होंने बताया कि अस्पताल की व्यवस्थाओं के लिये कार्य करने वाली सामाजिक संस्थायें वर्ष भर में एक सप्ताह के लिये सहभागी बनेगी और अपने महत्वपूर्ण सुझाव और सहयोग से अस्पताल को बेहतर करने की दिशा में अपना योगदान देगी। हर सप्ताह एक सामाजिक संस्था इस कार्य को करेगी। इसके लिये जिला कलेक्टर की ओर से एक नामांकित अधिकारी तथा अस्पताल की ओर से एक समन्वय अधिकारी रहेगा। जनभागीदारी के माध्यम से अस्पताल की बेहतरी के लिये सहयोग राशि अथवा संसाधन कलेक्टर के माध्यम से दिए जा सकेंगे। जन सहयोग एवं दान में मिलने वाली सामग्री का उपयोग करने के पूर्व एक समारोह भी अस्पताल में आयोजित किया जायेगा।  अस्पताल के कायाकल्प के लिये प्रतयेक सोमवार को प्रात: 8 बजे से 10 बजे तक अस्पताल का भ्रमण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया जायेगा तथा उन्नयन एवं सौंदर्यीकरण के लिये महत्वपूर्ण सुझाव उसी दिन प्रात: 11 बजे जिला कलेक्टर को प्रस्तुत किए जायेंगे। कलेक्टर द्वारा उक्त सुझावों के आधार पर संबंधित विभागों को दिशा-निर्देश जारी किए जायेंगे। 

अस्पताल उन्नयन कार्यक्रम के तहत जो महत्वपूर्ण कार्य हाथ में लिए जायेंगे, उनमें अस्पताल की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करना, साफ-सफाई, पार्किंग व्यवस्था, अस्पताल परिसर के उद्यान का उन्नयन, आवारा मवेशियों के प्रवेश पर रोक, प्रकाश व्यवस्था, कोविड गाइडलाईन का पालन, संकेतकों का सही स्थान पर प्रदर्शन करने के साथ ही अस्पताल परिसर में पेयजल एवं शौचालयों की उचित व्यवस्था करना प्रमुख रहेगा। संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने बताया कि अस्पताल के उन्नयन एवं कायाकल्प अभियान के लिये वित्तीय व्यवस्था शासन द्वारा प्रदत्त विभिन्न निधियों, रेडक्रॉस, रोगी कल्याण समिति, विभिन्न विभागों की राशि, जनभागीदारी मद, स्वयंसेवी संस्थाओं से सहयोग तथा आयुष्मान योजना के अंतर्गत प्रतिपूर्ति राशि से किया जायेगा। योजना का शुभारंभ जिला स्तर तथा अन्य स्तरों पर किया जायेगा। जिला चिकित्सालय स्तर पर 21 दिसम्बर 2020, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर 28 दिसम्बर, प्राथमिक स्वास्यि केन्द्र स्तर पर 4 जनवरी 2021, प्रसव केन्द्र स्तर पर 11 जनवरी 2021 तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर 18 जनवरी से किया जायेगा।