प्राइवेट स्कूल संगठनों ने सरकार को दी आंदोलन की चेतावनी…

9वीं से 12वीं के लिए कल-परसो में जारी होंगे आदेश : लोक शिक्षण आयुक्त

राज्य में प्राइवेट स्कूल संचालक सरकार के स्कूल न खोलने के फैसले का खुलकर विरोध कर रहे हैं। संचालकों नें कोरोनावायरस के कारण लंबे समय से बंद पड़े स्कूलों को खोलने की मांग की है। इतना ही नहीं, कई प्राइवेट स्कूल संगठनों ने सिर्फ 5 दिनों के अंदर स्कूल खोलने की चेतावनी दी है। अगर आने वाले दिनों में सरकार स्कूल खोलने की इजाजत नहीं देती है तो वे 14 दिसंबर को मुख्यमंत्री आवास पर धरना प्रदर्शन करेंगे। 

प्रदेश में दो से तीन दिन में 9वीं से 12वीं की क्लासेज लगने को लेकर स्थिति साफ हो सकती है। लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने इस बात के संकेत दिए हैं। उनका कहना है कि दो से तीन दिन में इस संबंध में निर्णय ले लिया जाएगा। संभावना है कि अगले हफ्ते क्लासेज शुरू हो सकती हैं। निजी स्कूल संचालकों के दबाव के बाद यह संकेत मिले हैं कि सरकार नौवीं से 12वीं तक के स्कूल खोलने की अनुमति दे सकती है। इनमें सीबीएसई और एमपी बोर्ड सहित सभी तरह स्कूल शामिल हैं।

इस संबंध में प्राइवेट स्कूल संचालकों ने भोपाल में गुरुवार को एक पत्र लोक शिक्षण आयुक्त को दिया। कियावत ने कहा, उनकी मांगों का ड्राफ्ट बनाकर शासन को भेज दिया है। इसके बाद 9वीं से 12वीं तक के स्कूल जल्द खोले जा सकते हैं। प्राइवेट स्कूल संचालक भी पहली से लेकर 5वीं तक की क्लास शुरू करने के पक्ष में नहीं है। अब सिर्फ 6वीं से लेकर 8वीं तक की क्लास को भी खोले जाने की मांग की जा रही है।

एसोसिएशन ऑफ अन-एडेड प्राइवेट स्कूल्स मध्य प्रदेश एवं सोसाइटी ऑफ प्राइवेट स्कूल डायरेक्टर्स के उपाध्यक्ष विनी राज मोदी ने बताया कि आयुक्त के साथ मीटिंग हुई। उन्होंने सभी मांगों को ध्यान पूर्वक सुना व 14 दिसंबर के पहले आदेश जारी करवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने ने कहा की सरकार प्राइवेट स्कूलों के प्रति संवेदनशील है। उन्होंने माना कि तीन चौथाई शिक्षा सत्र बीत चुका है। अब स्कूल खोलना आवश्यक है।