शहर के विभिन्न चौराहों पर खड़े होकर वसूलेंगे जुर्माना…

पुलिस कंट्रोल रूम से रवाना हुए कोरोना जागरूकता वाहन

ग्वालियर। जब तक कोरोना से बचाव के लिये वैक्सीन नहीं आती तब तक मास्क ही वैक्सीन है। एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाए रखें और अपने हाथ लगातार साबुन से धोते रहें। साथ ही जरूरत के मुताबिक सेनेटाइजर से भी हाथों की सफाई करते रहें। इस आशय का संदेश जन-जन तक पहुँचाने के लिये जिला प्रशासन, पुलिस और नगर निगम द्वारा ग्वालियर शहर में कोविड जागरूकता वाहन चलाए जा रहे हैं। इस कड़ी में अपर कलेक्टर किशोर कान्याल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डेय ने रविवार को पुलिस कंट्रोल रूम से हरी झण्डी दिखाकर पुलिस के चार मोबाइल वाहन शहर के विभिन्न इलाकों के लिये रवाना किए।

कोविड जागरूकता वाहन शहर के विभिन्न चौराहों पर खड़े होकर लोगों को कोविड संक्रमण से बचाव के लिये जागरूक करेंगे। साथ ही मास्क लगाकर न चलने वाले लोगों से जुर्माना भी वसूलेंगे। कोरोना जागरूकता वाहन संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी एवं नगर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में कार्रवाई करेंगे। अपर जिला दण्डाधिकारी किशोर कान्याल ने इन वाहनों पर तैनात पुलिस बल एवं राजस्व के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मानवीय दृष्टिकोंण के साथ मास्क न लगाने वाले लोगों से जुर्माना वसूलें। साथ ही जुर्माने की कार्रवाई के बाद लोगों को मास्क भी मुहैया कराएँ। 

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डेय ने कहा कि कोरोना जागरूकता वाहन माइक के जरिए भी लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये जागरूक करते रहें। साथ ही रात्रि 10 बजे से कर्फ्यू का पालन भी कराएँ। इस अवसर पर शहर के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों एवं कोविड मोबाइल पर तैनात पुलिस कर्मियों का आपस में परिचय कराया जाए। पुलिस कंट्रोल रूम से रविवार को कोरोना जागरूकता के लिये रवाना किए गए वाहनों के अलावा नगर निगम व मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा भी शहर में अलग से जागरूकता वाहन चलाए जा रहे हैं। जिला प्रशासन ने जिलेवासियों से आग्रह किया है कि वे मास्क लगाकर ही घर से निकलें। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। इस बात को मूल मंत्र बना लें कि मास्क ही कोरोना वैक्सीन है।