प्रैस के लोग मोबाइल से कव्हरेज नहीं कर सकेंगे…

काउटिंग में किसी भी प्रकार की गलती नहीं होनी चाहिये : जिला निर्वाचन अधिकारी

मुरैना। मतगणना तैयारियां अन्तिम चरण में है। इसलिये कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा ने नवीन कलेक्ट्रेट में रिटर्निंग आॅफीसर, सहायक रिटर्निंग आॅफीसरों की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने सख्त निर्देश दिये है कि मतगणना के समय काउटिंग मंे किसी भी प्रकार की गलती नहीं होनी चाहिये। गणना के दौरान हर बिन्दु पर संबंधित व्यक्ति को चैकन्ना रहकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि आरओ, एआरओ हर टेबल की गणना पर आने वाले प्रश्नों का जबाव देने नहीं पहुंच सकते। संबंधित टेबल गणना अधिकारी को विवेक से कार्य करना होगा। डाकमत पत्र या पोस्टल बैलेट में कोई भी निर्णय लेने से पहले संबंधित आरओ को भी अवगत कराना होगा। अन्तिम निर्णय रिटर्निंग आॅफीसर का ही होगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी श्री वर्मा ने कहा कि कोविड की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुये प्रत्येक विधानसभा की मतगणना 3 कक्षों में होगी। जिसमें दो कक्षो में ईव्हीएम की गणना 7-7 टेबल पर होगी। तीसरे कमरे में पोस्टल बैलेट की गणना की जायेगी। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थियों के गणना एजेन्टों को भी सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। कलेक्टर ने बताया कि संपूर्ण गणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी आरओ के द्वारा कराई जायेगी। प्रत्येक टेबल की नहीं। गणनाहाॅल मंे मीडिया का फिक्स स्टेण्ड कैमरे की अनुमति नहीं होगी। 

पत्रकारों के गणना हाॅल में प्रवेश एवं पहुंच हेतु एक सीमा का निर्धारण करना होगा। हाथ या कंधे वाला कैमरा ले जाने की अनुमति होगी। किसी मशीन पर कैमरा फोकस नहीं किया जायेगा, न ही ऐसा फोटोग्राफ्स लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि कोई भी मीडिया कर्मी गणना कक्ष में मोबाइल नहीं ले जा सकेंगे। मीडियाकर्मी मतगणना कक्ष में पीआरओ के साथ कैमरा लेकर फोटो, वीडियाग्राफी कर सकेंगे। मोबाइल किसी भी स्थिति में एलाउ नहीं होगा।

कलेक्टर ने कहा कि मतगणना 10 नवम्बर को प्रातः 8 बजे से प्रारंभ होगी। इसके पूर्व गणना कर्मी प्रातः 6 बजे पाॅलीटेक्निक पहुंचकर अपनी-अपनी टेबल पर 7 बजे पहुंचे। ईव्हीएम स्ट्रांग रूम 7 बजे खुलेगा। इसके बाद सभी मशीनों को सैनेटाइज किया जायेगा। मीडिया कर्मी या कर्मचारी निर्वाचन कार्यालय तथा राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किया हुआ पास लेकर ही प्रवेश पा सकेंगे।