145KM प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकती है आंधी…

आज रात तमिलनाडु के तट से टकरा सकता है "निवार"

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान निवार (NIVAR) के आज रात तमिलनाडु और पॉण्डिचेरी के तट से टकराने की आशंका जताई जा रही है, भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक आज रात तमिलनाडू और पॉण्डिचरी के बीच कराईकल तथा मामल्लापुरम के बीच के तटीय क्षेत्र में देर रात चक्रवाती तूफान के टकराने की आशंका है। मौसम विभाग के मुताबिक जब चक्रवाती तूफान तट से टकराएगा तो हवा की रफ्तार 120-130 किलोमीटर प्रतिघंटा हो सकती है और 145 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आंधी भी चल सकती है। 

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान निवार की वजह से उत्तर एवं आंतरिक तमिलनाडू, पॉण्डिचेरी, कराईकल, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश और रायलसीमा में 25 तथा 26 नवंबर को भारी बरसात हो सकती है। इसके अलावा दक्षिण पूर्वी तेलंगाना में भी 26 नवंबर को इस चक्रवाती तूफान की वजह से भारी बरसात होने की संभावना है। मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान की वजह से तटीय, उत्तरी और आंतरिक तमिलनाडू, पॉण्डिचेरी तथा कराइकल के लिए 25 नवंबर को रेड अलर्ट जारी किया है, रायलसीमा के लिए 26 नवंबर को रेड अलर्ट जारी हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक जब तूफान समुद्र तट से टकराएगा तो एक से डेड़ मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं। 

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान NIVAR की वजह से झोंपड़ियों और कच्चे मकानों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचने की आशंका है, पक्के घरों को भी नुकसान हो सकता है, पेड़ और बिजली के खंबे जमीन से उखड़ सकते हैं, रेलवे की पटरियों और पावर लाइन को नुकसान पहुंचने की आशंका है, इसके अलावा क्षेत्र में खड़ी फसलों, नारियल के पेड़ों तथा आम के पेड़ों को भी नुकसान पहुंचने की आशंका है। मौसम विभाग ने मछुआरों को समंदर में नहीं जाने की सलाह दी है और मछली पकड़ने के काम पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है, मौसम विभाग ने यह भी कहा है कि मोटर बोट तथा छोटे जहाजों का भी समंदर में जाना सुरक्षित नहीं है।