पुलिस प्रेक्षकों की उपस्थिति में अभ्यर्थियों की बैठक संपन्न…

चुनाव में बाधा उत्पन्न करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाही : कलेक्टर 

मुरैना। विधानसभा उपनिर्वाचन 2020 में पांचों विधानसभा क्षेत्रों के 67 अभ्यर्थी आदर्श आचार संहिता का पालन करें। आदर्श आचार संहिता में किसी भी प्रकार की घटना या ऐसा कोई कार्य न करें, जिससे चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण तथा पारदर्शी संपन्न कराने में बाधा उत्पन्न हो। ऐसा कहीं होते हुये पाया गया तो चुनाव नियमों के तहत सख्त कार्रवाही होगी। यह बात अंबाह, दिमनी, मुरैना के सामान्य प्रेक्षक अहमद नदीम ने न्यू कलेक्ट्रेट सभागार में मंगलवार को अभ्यर्थियों को संबोधित करते हुये कही। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा ने कहा कि विधानसभा उपनिर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण संपन्न कराने में सभी अभ्यर्थी सहभागी बनें। 

सुमावली, जौरा के सामान्य प्रेक्षक अनिमेष कुमार पाराशर ने कहा कि पूरी तरह आदर्श आचार संहिता का पालन हो। कमजोर व्यक्ति भी बिना रूकावट के निर्भीक होकर मतदान कर सकें। लोकतंत्र के पर्व को सहभागिता के साथ मनायें। पुलिस प्रेक्षक अनूप बिरथर ने कहा कि चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण संपन्न कराने के लिये फोर्स की कमी नहीं है। अभी पांच कंपनी मुरैना आ चुकी है। जिन्हें वल्नरेवल क्षेत्रों के मतदान केन्द्रों पर भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा किसी भी क्षेत्र में शराब या अन्य सामग्री वितरण होने की शिकायत मिलती है तो उसकी सूचना हमारे दूरभाष नंबर पर दें। किसी वोटर को कोई डरा या धमका रहा हो तो उसकी सूचना भी हमें दूरभाष पर दे सकते है। 

इसके अलावा सामान्य, पुलिस प्रेक्षक सायं 4 से 5 बजे तक सर्किट हाउस मुरैना पर उपलब्ध रहेंगे। कोई सीधे भी संपर्क कर सकते है। दिमनी, अंबाह के व्यय प्रेक्षक अंकुर यादव ने कहा कि कोई भी अभ्यर्थी 10 हजार से अधिक नगद भुगतान नहीं करेगा। जो भी भुगतान करेगा उसे चैक या अन्य बैंकिंग द्वारा खुलवाये गये अकाउंट से भुगतान करेगा। इसके लिये दिमनी विधानसभा क्षेत्र के अभ्यर्थियों को 23, 27, 31 अक्टूबर को बिल व्हाउचर, लेखा-जोखा, रजिस्टर आदि का अवलोकन कराना होगा। इसी प्रकार अंबाह के लिये 22, 28 अक्टूबर एवं 1 नवम्बर को अभ्यर्थियों को व्यय की जानकारी प्रतिनिधि या स्वयं उपस्थित होकर अवलोकन करानी होगी। इसके अलावा जौरा, सुमावली और मुरैना के व्यय प्रेक्षक व्यय की जानकारी देने के लिये उपस्थित होकर अलग से अभ्यर्थियों को बतायेंगे। 

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा ने कहा कि चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन सभी को करना है। चुनाव गतिविधियों में बाधा उत्पन्न करने वालांे के खिलाफ सख्त कार्रवाही होगी। चुनाव के दौरान छोटी सी छोटी घटना सोशल मीडिया पर तुरंत वायरल होती है। यह न सोचा कि हमें कोई जानकारी न मिलेगी। पांचो विधानसभा क्षेत्र में कहीं भी किसी भी प्रकार की अवैध सामग्री वितरण न हो। मतदाता को मत देने से कोई रोकता है तो उसके खिलाफ चुनाव नियमों के तहत कार्रवाही होगी। उन्हांेने कहा कि पांचों विधानसभा क्षेत्र में 1448 मतदान केन्द्र थे, किन्तु कोविड-19 के कारण मतदाताओं की संख्या एक हजार होने पर 278 सहायक मतदान केन्द्र बनाये गये है। यह मतदान केन्द्र मूल मतदान केन्द्र केस समीप ही होंगे। इस प्रकार कुल 1726 मतदान केन्द्र है।