गठबंधन को मिलेंगी तीन चौथाई सीटें…

आंकड़े चाहे जो भी हों नीतीश ही होंगे मुख्यमंत्री : मोदी


बिहार चुनाव को लेकर एनडीए ने मंगलवार की शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें सीटों के बंटवारे पर आधिकारिक रूप से मुहर लगने का भी ऐलान किया गया. चिराग पासवान के बिहार में एनडीए से नाता तोड़ने के बाद यह पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस थी. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि वह बीजेपी के साथ मिलकर बिहार के विकास के लिए काम कर रहे हैं और एनडीए में कोई भी गलतफहमी नहीं है. इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में बिहार बीजेपी के नेता और राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि चुनाव के नतीजे जो भी आएं और सीटें जितनी भी आएं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही होंगे. उनका कहना था कि अगर बीजेपी की सीटें ज्यादा भी रहीं तो भी नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बनेंगे. 

सुशील मोदी ने दावा किया कि गठबंधन को तीन चौथाई सीटें मिलेंगी और चुनाव बाद किसी अन्य से मदद की दरकार नहीं होगी. सुशील मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे का गठबंधन के बाहर किसी अन्य दल को इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा. इसके लिए चुनाव आयोग से भी संपर्क साधा जाएगा. लोजपा के अलग होने के मसले पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राम विलास पासवान केंद्र में मंत्री हैं और अस्वस्थ चल रहे हैं. जैसा कि संजय जायसवाल जी ने कहा है कि अगर वह स्वस्थ होते तो यह स्थिति न होती. लेकिन कोई भ्रम नहीं, बीच में कुछ वर्षों को छोड़ दें तो जेडीयू से हमारा संबंध 1996 से है. बिहार में जेडीयू, बीजेपी, हम और वीआईपी पार्टी का गठबंधन है. 

ऐसी आशंका है कि कई निर्दलीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की फोटो का इस्तेमाल करेंगे, कुछ लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरों का इस्तेमाल कर सकते हैं, लिहाजा आवश्यकता पड़ी तो हम चुनाव आयोग को लिखकर देंगे और वह इस मसले पर उचित कार्रवाई करेगा. प्रेस कान्फ्रेंस में बीजेपी, जेडीयू और छोटे दलों के बीच सीटों के बंटवारे की औपचारिक घोषणा भी की गई. राज्य की 243 विधानसभा सीटों में बीजेपी के पाले में 121 सीटें गई हैं जिनमें से वह सात सीटें जीतन राम मांझी की पार्टी को देगी. वहीं जेडीयू 122 सीटों पर लड़ेगी और वह मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी को अपने कोटे से सीटें देगी. एनडीए से राम विलास पासवान की पार्टी लोजपा अलग हो चुकी है. 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश कुमार ने लोजपा नेता चिराग पासवान और अन्य नेताओं के बयान कहा कि कौन क्या कहता है, इससे उन्हें फर्क नहीं पड़ता. जेडीयू और बीजेपी सहमति के तहत ही आगे बढ़े हैं और गठबंधन मिलकर काम कर रहा है और आगे भी मिलकर काम करेगा. हम लोगों के मन में कोई भी गलतफहमी नहीं है. नीतीश ने कहा कि हमने 24 हजार करोड़ रुपये के बजट को दो लाख करोड़ रुपये तक पहुंचा दिया. राजद के दस लाख नौकरियों के सवाल पर नीतीश ने कहा कि इसका भी हम आंकड़ा देने को तैयार हैं. सुशील मोदी ने भी विपक्ष को बिजली, पानी, बाढ़ या कोरोना जैसे मुद्दों को लेकर चुनाव में उतरने की चुनौती दी.