भारी भरकम टैक्स थोपना जनता के साथ सरासर अन्याय है…

जल, मल और सफाई शुल्क बढाया तो विरोध झेलना होगाः माकपा

ग्वालियर। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की ग्वालियर जिला समिति ने एक बयान जारी कर शहर की जनता पर जल,मल, और सफाई के नाम प्रस्तावित टैक्स अगर लागू किया गया तो तीव्र विरोध किया जायेगा। माकपा जिला सचिव अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी सरकार केवल पूंजीपतियों, कारपारेट घरानो के हितों के बारे सोचती रहती है जबकि आमजनता की तकलीफो एवं मध्यम वर्ग और नीचे तबके के लोगों का कतई ख्यान नही रखा जा रहा है।

माकपा नेता का कहना है कि जब नगर निगम में पहले से ही समेकित कर के नाम से एक टैक्स जनता से लिया जा रहा है जिसमें सभी कर समाहित होते है ऐसे में एक और नये टैक्स का कोई औचित्य नही है। कोराना लाॅकडाउन में जनता पहले से ही अपने धंधे और रोजगार गवां कर बैठी है, एैसे में भारी भरकम टैक्स थोपना जनता के साथ सरासर अन्याय है। 

माकपा नेता अखिलेश यादव ने चेतावनी है कि ऐसे किसी भी जनविरोधी निर्णय को अगर थोपा जाता है तो सरकार लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत बडे विरोध को झेलने के लिए तैयार रहे। माकपा नेता ने आम जनता से भी आग्रह किया है कि उपचुनाव तक खत्म होते ही जनता पर ये टैक्स थोपे जाने है अतः एैसी सरकारों को सत्ता से हटाने के लिए अपना मतदान करें।