सचिन पायलट ने शिवराज को जमकर कोसा...

शिवराज पिछले दरवाजे से आकर सत्ता की कुर्सी पर बैठ गये : पायलट

ज्योतिरादित्य सिंधिया के दोस्त सचिन पायलट ने ग्वालियर-चंबल में धुआंधार कैंपेन शुरू कर दी है। वे दो दिन में ग्वालियर-चंबल की 9 सीटों पर चुनावी सभाएं करेंगे। ये सभी सीटें सिंधिया के प्रभाव वाली हैं।पायलट ने शिवपुरी की दो सीटों करैरा, पोहरी और मुरैना की जौरा में कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में रैली की। इन तीनों सभाओं में उन्होंने सिंधिया का नाम नहीं लिया।उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्र सरकार को जमकर कोसा।

हालांकि उन्होंने यहां पर जनता से पूछा कि मध्य प्रदेश में उपचुनाव क्यों हो रहे हैं, ये आप लोग जानते हैं। सचिन पायलट ने कहा- ‘आज हम सब आपके बीच वोट मांगने आए हैं। उपचुनाव हो रहे हैं क्यों हो रहे हैं। किस वजह से हो रहे हैं। उसके बारे में शुक्ला जी ने अच्छे से बताया है।’ पायलट ने कहा कि ‘हम पड़ोस के राज्य के हैं, राजस्थान में संघर्ष किया और भाजपा की सरकार को उखाड़कर कर फेंक दिया। आपके प्यार और आशीर्वाद से यहां पर भी फिर से कांग्रेस की सरकार बनेगी।’ सचिन पायलट की तीसरी चुनावी सभा जौरा में की। 

कांग्रेस प्रत्याशी पंकज उपाध्याय के समर्थन में चुनावी रैली की। यहां भी उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम नहीं लिया। शिवराज पर निशाना साधते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में देश का सबसे बड़ा व्यापमं घोटाला, खनन घोटाला हुआ। इसके बाद जनता ने आपको घर बिठाया, लेकिन सत्ता के लालच में आप फिर से पिछले दरवाजे से आकर बैठ गए। शिवराज सिंह चौहान को जनता ने तीन-तीन बार मुख्यमंत्री बनाया। लेकिन उन्होंने क्या किया, व्यापमं हत्याकांड हुआ, खान-खनन घोटाला हुआ। 

इसके बाद क्या हुआ, किसी को सजा नहीं हुई। जनता के अनुरोध पर पायलट ने मास्क उतारा सचिन पायलट ने दो सभाएं मास्क पहनकर कीं, लेकिन तीसरी सभा जौरा में लोगों ने उनसे मास्क उतारने की मांग कर दी। पायलट ने कहा कि मेरा मुंह देखने आए हो या पंकज को वोट देने। इस पर प्रत्याशी पंकज उपाध्याय ने भी कहा कि भैया ये आपका चेहरा देखना चाहते हैं। इसके बाद पायलट ने मास्क उतार दिया। उन्होंने कहा कि बहुत दिन हो गए, बहुत दिन से हजामत नहीं बनाई है। 

सचिन ने कहा कि ये लड़ाई सत्य-असत्य और धर्म-अधर्म की है। नेता चाहे, जितना बड़ा हो जाए तो जनता के बीच सिर झुकाकर ही जाना पड़ता है। आपको दोबारा मौका मिला है, तो यहां पर इस नौजवान को जिताकर भोपाल भेजो। आप जौरा में भाजपा का धुंआ निकालो, हम सुगर मिल में धुआं निकालेंगे। जौरा की शुगर मिल लंबे समय से बंद पड़ी है। जनता इसे चालू कराने की मांग कर रही है। ‘पौने दो साल पहले भाजपा की सरकार को आप लोगों ने विदाई की और कांग्रेस की सरकार बनाई। 

बहुत लंबे समय तक चौहान साहब मुख्यमंत्री रहे। वह भाषण देने में कम नहीं हैं। मध्य प्रदेश की जनता ने बार-बार उन्हें आशीर्वाद दिया, उसका सम्मान करते हैं। लोकतंत्र में जनता जनार्दन है। उसको सलाम करना पड़ता है। लेकिन आज सत्ता में रहते समय उसके बाद सत्ता में रहते समय आपकी सोच क्या है, काम क्या किया। नारे क्या दिए और क्या काम किया। ये दिख जाता है। लोकतंत्र की खूबसूरती ये है, चाहे कोई भी हो। अंत में पांच साल तक शीश झुकाना होगा, झुकना पड़ता है। नाक रगड़नी पड़ती है।