सुशांत सिंह राजपूत केस…

कोर्ट ने खारिज की रिया चक्रवर्ती की जमानत याचिका

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत संदिग्ध मौत मामले में मुख्य आरोपी और गर्लफ्रैंड रिया चक्रवर्ती आखिरकार गिरफ्तार हो ही गई. हालांकि शाम को ही उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. रिया के वकील ने जमानत की अर्जी भी दी लेकिन मजिस्ट्रेट ने उसे खारिज कर दिया. रिया चक्रवर्ती गिरफ्तारी के तुरंत बाद जब मेडिकल के लिए बाहर लाई गई तो मीडिया की तरफ हाथ लहराया. मतलब साफ है रिया की हिम्मत और हौसला अब भी बरकरार है. रिया के वकील ने गिरफ्तारी के तुरंत बाद बयान जारी कर इसे न्याय का उपहास बताया. शाम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये मजिस्ट्रेट के सामने पेशी भी हुई लेकिन जमानत अर्जी खारिज हो गई. इसके पहले शाम 4 बजे के करीब लगातार तीन दिन की पूछताछ के बाद NCB ने मंगलवार को रिया को गिरफ़्तार तो कर लिया, लेकिन बिना किसी ड्रग्स की बरामदगी के. एनसीबी का कहना है कि रिया ने माना कि कुछ मौकों पर उसने भी ड्रग्स लिया. उन्होंने अपने भाई शौविक और सुशांत के साथ ड्रग्स लिया. मिली जानकारी के मुताबिक, एनसीबी ने बताया कि रिया चक्रवर्ती ने गांजे की बड्स सिगरेट के साथ पी थी. वो किसी ड्रग पैडलर के सीधे टच में नहीं थी, लेकिन लॉकडाउन के बाद जब ड्रग्स मिलना बंद हो गया था, तब रिया ने शौविक से कहकर ड्रग्स मंगाया था. रिया ने बताया कि सुशांत बहुत पहले से ड्रग्स लेता आ रहा है और सुशांत के कहने पर उसी के लिए ड्रग्स मंगाया. रिया और उसके भाई शौविक को आमने सामने बिठाकर पूछताछ हुई, तो रिया रोने लगीं. 

एनसीबी के मुताबिक, रिया के घर से जो इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स मिले, उनसे भी ड्रग्स से जुड़े कुछ सबूत मिले. NCB सूत्रों की मानें तो सबूत के नाम पर रिया चक्रवर्ती का ड्रग्स से जुड़ा चैट और शॉविक, सैमुअल और दीपेश के बयान में रिया का जिक्र ही अहम है. NCB के मुताबिक रिया चक्रवर्ती ने पूछताछ में माना है कि वो और सुशान्त ड्रग्स मंगाते थे. कौन सी ड्रग्स लानी है ये बताने के साथ पैसे का बंदोबस्त भी करते थे. NCB के मुताबिक रिया के बयान से साफ है कि वो भी इस ड्रग्स रैकेट का हिस्सा थी. एनडीपीएस कानून के तहत दर्ज इस मामले में सेक्शन 8 (C) यानी प्रतिबंधित ड्रग्स को गैर कानूनी तरीके खरीदने, 20(ii) ड्रग्स लाना ले जाना, 27(A) ड्रग्स रखना, खरीदना और बेचना, 28-29 ड्रग्स से जुड़े गैरकानूनी अपराध और उसकी साजिश रचने की धाराएं लगाई गई हैं. लेकिन मामला गांजा से जुड़ा है और सज़ा के लिए उसकी कम से कम एक किलो बरामदगी जरूरी होती है इसलिए ये मामला अदालत में कितना टिक पायेगा कहना मुश्किल है. रिया चक्रवर्ती गिरफ्तार तो हो गई लेकिन सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत मामले में नहीं, ड्रग्स मामले में. मतलब यह कि सुशांत की मौत की गुत्थी अब भी उलझी हुई है. 

बताते चले कि एनसीबी ने कहा था कि जब रिया पूछताछ के लिए पेश होंगी तो वह उनका उनके छोटे भाई शौविक चक्रवर्ती (24), राजपूत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा (33) और राजपूत के निजी स्टाफ सदस्य दीपेश सावंत से आमना-सामना कराना चाहती है, जिससे इस कथित मादक पदार्थ गिरोह में सभी की भूमिकाएं स्पष्ट हो सकें. गौरतलब है कि एजेंसी को मोबाइल फोन चैट रिकॉर्ड तथा अन्य इलेक्ट्रॉनिक डेटा हासिल हुआ था जिसमें प्रतिबंधित मादक पदार्थ की खरीद में इन लोगों की संलिप्तता सामने आई थी. एनसीबी ने पिछले कुछ दिनों में मामले की जांच के दौरान इन तीनों को गिरफ्तार किया है. इससे पहले रिया से प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई भी पूछताछ कर चुकी हैं. रिया ने कई समाचार चैनलों को दिए साक्षात्कार में कहा था कि उन्होंने खुद कभी मादक पदार्थ का सेवन नहीं किया है. उन्होंने हालांकि दावा किया था कि सुशांत सिंह राजपूत मारिजुआना का सेवन करते थे. यह दावा किया जाता है कि मिरांडा ने एनसीबी जांचकर्ताओं को बताया है कि वह सुशांत के घर के लिए मादक पदार्थ (बड और क्यूरेटेड मारिजुआना) खरीदा करते थे. एनसीबी ने अब तक इस मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें से छह इस जांच से सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं जबकि दो को उसने एनडीपीएस कानून की धाराओं के तहत जांच शुरू होने के बाद गिरफ्तार किया. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को उनके बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में मृत मिले थे.