बंद जनकल्याणकारी योजनायें पुनः शुरू होगीं…

भाण्ड़ेर क्षेत्र के विकास में कोई कमीं नहीं आने दी जायेगी : मुख्यमंत्री 

ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भाण्ड़ेर क्षेत्र के विकास में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी। 15 माह के दौरान यहां जो कार्य पूर्ण नहीं हुए उन्हें प्रमुखता के साथ पूरा किया जायेगा। पूर्व सरकार ने जन कल्याणकारी एवं हितग्राही मूलक योजनायें जो बंद कर दी गई थी। उन्हें पुनः प्रारंभ किया जायेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को दतिया जिले के भाण्ड़ेर में कृषि उपज मंडी प्रांगण में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवसर पर क्षेत्रीय सांसद संध्या राय, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश सरकार के गृह, जेल एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी, सहकारिता मंत्री अरविन्द भदौरिया के साथ 134 करोड़ 29 लाख की लागत के 179 निर्माण एवं विकास कार्यो का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस दौरान शासन की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों को 94 लाख की सहायता प्रदान की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भाण्ड़ेर क्षेत्र के विकास में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी। भाण्ड़ेर क्षेत्र के लोगों के मान-सम्मान का भी पूरा ध्यान रखा जायेगा। 

15 माह के दौरान जो विकास कार्य पूर्ण नहीं हुए है उन कार्यो को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराया जायेगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व सरकार ने जो हितग्राही मूलक एवं जन कल्याण की योजनायें बंद कर दी थी। उन्हें पुनः शुरू किया जायेगा। चाहे मुख्मयंत्री तीर्थ दर्शन योजना, मेद्यावी विद्यार्थी को लेपटॉप प्रदाय योजना, गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व दी जाने वाली 4 हजार रूपये की राशि एवं प्रसव के बाद पोषण आहार हेतु दी जाने वाली 16 हजार की राशि शामिल है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवार के बच्चों की  मेडीकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी में लगने वाली फीस की राशि भी राज्य सरकार द्वारा भरी जायेगी। इसके लिए गरीब विद्यार्थियों को चिन्ता करने की आवश्यकता नहीं है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकारी नौकरी पर से प्रतिबंध समाप्त कर प्रदेश में शिक्षित बेरोजगारों से विभिन्न पदों पर भर्ती की जायेगी।