जिले में 17.81 पर पहुंची संक्रमण दर…

मंगलवार को शहर में मिले 236 कोरोना संक्रमित

शहर में कोरोना संक्रमण की दर जुलाई में 6.41 थी, जो सितंबर में बढ़कर 17.81 पहुंच गई है। इसके बाद भी जिम्मेदार अधिकारी संक्रमण को स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार नहीं कर पाए हैं। स्थिति यह है कि मंगलवार को शहर में 2112 एक्टिव मरीज थे लेकिन सरकारी और निजी अस्पतालों में सिर्फ 1407 पलंग की व्यवस्था है। इस कारण प्रशासन ज्यादातर मरीजों को होम आइसोलेट कर रहा है। एक दिन पहले तक 710 मरीज होम आइसोलेट थेे। पूर्व में जिला प्रशासन ने होम क्वारेंटाइन पर ही पूर्ण रूप से रोक लगा दी थी। वहीं दूसरी ओर कागजों में दिखाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पांच अस्पतालों में मरीजों के भर्ती करने की व्यवस्था होने का दावा किया है। इनमें कुछ में ऑक्सीजन देने की भी सुविधा है, लेकिन हकीकत यह है कि इन अस्पतालों में केवल बिना लक्षण वाले मरीजों को ही भर्ती करने के लिए कहा गया है। भर्ती मरीजों की परेशानी गर्मी के कारण नींद नहीं आती दुल्लुपुर निवासी 20 वर्षीय युवक को श्रमोदय विद्यालय में भर्ती किया गया है। उसने बताया कि भोजन तो समय पर मिलता है, लेकिन बीमारी के कारण काफी कमजोरी आ गई है। 

कई बार कहने के बाद भी दूध नहीं दिया जा रहा। दिन हो या रात, यहां इतनी गर्मी रहती है कि नींद नहीं आती। पवन विहार काॅलोनी के 65 वर्षीय वृद्ध को खांसी की शिकायत थी। जांच में पॉजिटिव आने के बाद जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। छह दिन बाद ही उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। उन्होंने बताया, अभी भी उन्हें खांसी की समस्या है। चलने पर सांस भी फूलती है। शहीद गेट निवासी 30 वर्षीय युवक को सोमवार से सांस लेने में तकलीफ हो रही है। उसने बताया कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद से किसी भी डाॅक्टर ने उससे संपर्क नहीं किया। वह निजी चिकित्सक से परामर्श कर दवाईयों का सेवन कर रहा है। मुरार प्रसूति गृह में फिर से कोरोना संक्रमण का विस्फोट हुआ है। मंगलवार को जारी रिपोर्ट में पांच महिलाओं में संक्रमण की पुष्टि हुई। 

जिला अस्पताल के आरएमओ के बाद उनकी पत्नी और लैब टेक्नीशियन की जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। जीआरएमसी के मेडिसिन विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष 75 वर्षीय डाक्टर भी जांच में पॉजिटिव निकले। सेंट्रल जेल में बंद कैदी भी संक्रमित निकला है। एयरफोर्स के कर्मचारी व उनकी पत्नी भी पॉजिटिव आए हैं। ट्राॅमा सेंटर के नोडल अधिकारी भी संक्रमण की चपेट में हैं। मंगलवार को जांच रिपोर्ट में मुरैना में पदस्थ राज्य कर अधिकारी की पत्नी व बेटा भी पॉजिटिव आए हैं। वे एमपीसीटी हाॅस्पिटल में भर्ती हैं। उनके अलावा आईआईटीटीएम के ऑफिस असिस्टेंट के 70 वर्षीय पिता भी पॉजिटिव आए हैं। एसपी कार्यालय में पदस्थ निरीक्षक, थाना अजाक्स और डीआईजी कार्यालय में पदस्थ आरक्षक, एसटीएफ डीएसपी का बेटा, एसबीआई सिटी सेंटर में पदस्थ चीफ मैनेजर, डाकघर (मुरार) अधिकारी, नगर निगम सब-इंजीनियर, मप्र पर्यटन निगम का कर्मचारी, जेकेटायर में कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं।