ग्वालियर पुलिस को मिली बड़ी सफलता…

नाबालिग लड़कियों को बेचने वाली महिला गिरफ्तार

ग्वालियर। पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी के निर्देश पर ग्वालियर जिले में इनामी फरारी बदमाशों एवं मानव तस्करों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध सतेन्द्र सिंह तोमर द्वारा ग्वालियर क्राईम ब्रांच को मुखबिर तंत्र विकसित कर प्रभावी कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया गया। आज दिनांक 17.09.2020 को पुलिस अधीक्षक ग्वालियर को जरिये मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि थाना ठाटीपुर के अपराध क्रमांक 491/19 तथा थाना ग्वालियर के अपराध क्रमांक 199/19 मे वांछित मुख्य आरोपिया बबली उर्फ अरूणा गौतम को ग्वालियर रेल्वे स्टेशन के बाहर देखा गया है जो भागने की फिराक में है l

पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा उप पुलिस अधीक्षक, अपराध रत्नेश सिंह तोमर को क्राईम ब्रांच को उक्त सूचना की तस्दीक करने हेतु निर्देशित किया। उप पुलिस अधीक्षक अपराध द्वारा दिये गये निर्देशों के पालन में थाना प्रभारी क्राईम ब्रांच निरी. दामोदर गुप्ता द्वारा मय क्राईम टीम एवं थाना ठाटीपुर पुलिस की टीम के साथ मुखबिर के बताये स्थान ग्वालियर रेल्वे स्टेशन के बाहर घेराबंदी कर उक्त आरोपिया बबली उर्फ अरूणा गौतम पत्नि स्व. प्रदीप गौतम निवासी अंबाला केंट, हरियाणा को धरदबोचा। गिरफ्तार आरोपिया से पूछताछ करने पर उसने बताया कि उसने पांच नाबालिग लड़कियों का षड़यत्रपूर्वक विवाह करवाया है। 

उक्त लड़कियों के संबंध में क्राईम ब्रांच द्वारा विस्तृत रूप से पूछताछ भी की जा रही है। गिरफ्तार आरोपिया ने यह भी बताया कि वह एक गिरोह के साथ काम करती है जिसमें कुछ लोग रेल्वे स्टेशन अथवा बस स्टेण्ड पर रह कर घर से भागी हुई लड़कियों पर निगाह रखते है व उन्हे बहला फुसलाकर षड़यत्रपूर्वक पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश में शादी करवाने के नाम पर बेच देते है। उक्त आरोपिया बबली उर्फ अरूणा गौतम की गिरफ्तारी पर पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर जोन ग्वालियर द्वारा 30 हजार रूपये का ईनाम भी घोषित किया गया था। उक्त आरोपिया से उसके गिरोह के अन्य सदस्यों के संबंध में पूछताछ की जा रही है।