कोरोना संक्रमित स्वास्थ्य मंत्री से मांगा इस्तीफा…

कांग्रेस ने स्वास्थ्य मंत्री पर लगाया कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन का आरोप 



भोपाल। शिवराज सरकार में स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर सियासी पारा चढ़ गया है. कांग्रेस ने स्वास्थ्य मंत्री का इस्तीफा मांगा है. विपक्षी दल ने उनपर कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर संक्रमण फैलाने का आरोप लगाया है. कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी पर आरोप लगाते हुए कहा कि 20 अगस्त को कोरोना का सैंपल देने के बाद 23 तारीख तक उन्होंने सभाएं की और बैठकों में शामिल हुए. 

कांग्रेस नेता ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री के साथ बैठक लेने वाले अधिकारी अब तक क्वारंटीन नहीं हुए हैं. भूपेंद्र गुप्ता ने प्रभु राम चौधरी की बैठकें लेते हुए तस्वीरें भी जारी की हैं. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री का कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करना बड़ी लापरवाही है. आपको बता दें कि 23 अगस्त को स्वास्थ्य मंत्री  प्रभुराम चौधरी कोरोना संक्रमित पाए गए थे. जिसकी जानकारी खुद स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने ट्वीट कर दी थी. उन्होंने लिखा था ‘’मेरी कोविड की रिपोर्ट टेस्ट के बाद पॉजि़टिव आई है।

मेरा सभी से निवेदन है जो भी मेरे संपर्क में आए हैं, वह कोरोना टेस्ट करवा लें। मेरे निकट संपर्क वाले लोग क्वारनटीन में चले जाएं।आप सभी की प्रार्थना एवं आशीर्वाद से जल्द आप सभी के बीच उपस्थित होकर फिर जन सेवा के कार्यों में लगेंगे।’’ गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह समेत अब तक 9 मंत्री कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं. इनमें गोपाल भार्गव ( पीडब्ल्यूडी मंत्री ), अरविंद भदौरिया (सहकारिता मंत्री), तुलसी सिलावट (जल संसाधन मंत्री), रामखेलावन पटेल (अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री), विश्वास सारंग (चिकित्सा शिक्षा मंत्री), मोहन यादव (उच्च शिक्षा मंत्री) , ओमप्रकाश सखलेचा शामिल हैं.