15 दिन बाद एक बार फिर मिले 100 से अधिक संक्रमित…
शनिवार को ग्वालियर में मिले 125 कोरोना पॉज़िटिव 

जुलाई में पीक पर पहुंचे कोरोना संक्रमण ने अगस्त के पहले ही दिन ही लोगों की चिंता फिर से बढ़ा दी है। शनिवार को एक ही दिन में 125 संक्रमित सामने अाए। एेसा 15 दिन बाद हुआ जब एक दिन में 100 से अधिक काेराेना संक्रमित पाए गए हैं। इससे पहले 16 जुलाई को 162 कोरोना संक्रमित मिले थे। इसके बाद राेज नए मरीजाें की संख्या 100 से कम रहती थी। शनिवार को मिले 125 काेरोना पॉजिटिव मरीजों में 56 मरीज सिर्फ सीआरएपी कैंप के हैं। यहां 127 सैंपल हुए थे। 27 जुलाई के बाद से सीआरपीएफ कैंप में कोरोना का ब्लास्ट हाे रहा है। यहां अबतक 90 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। एसएएफ कॉलोनी निवासी 35 वर्षीय जवान भी संक्रमित निकला है। वह डीआईजी कार्यालय में ड्यूटी कर रहा था। 

इसी तरह गुड़ीगुड़ा का नाका निवासी 32 वर्षीय और कंपू निवासी 28 वर्षीय युवक सेना के जवान हैं। दोनों जवान जलंधर में पदस्थ हैं और दो दिन पूर्व लौटे हैं। इसके अलावा 14 बटालियन में पदस्थ 37 वर्षीय आरक्षक भी संक्रमित निकला है। जनकगंज थाने के प्रधान आरक्षक, कोतवाली थाने के आरक्षक और मोतीझील निवासी युवक बीते रोज कोरोना संक्रमित निकले थे। इन मरीजों को लेकर एंबुलेंस जिला अस्पताल के कोविड आश्रय भवन में भर्ती कराने की बजाय गेट पर ही छोड़ आई। काफी देर बाद भी वे भर्ती नहीं किए गए तो उन्होंने कलेक्टर से शिकायत की। कलेक्टर के हस्तक्षेप से उन्हें ईएसआई हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 

शनिवार को दो और बैंककर्मी संक्रमित मिले। प्रधान साहब का बाड़ा निवासी 30 वर्षीय महिला झांसी रोड स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा में लिपिक है। बहोड़ापुर निवासी 56 वर्षीय व्यक्ति सिटी सेंटर स्थित एसबीआई बैंक में हेड कैशियर है। इसी तरह कोटेश्वर चंदन नगर निवासी 57 वर्षीय व्यक्ति सिविल अस्पताल हजीरा में कंपाउंडर है। कंपाउंड ने बताया कि पिछले दिनों अस्पताल में एक संक्रमित मरीज आया था, जिसे उसने इंजेक्शन लगाया था। इधर नगर निगम कॉलोनी में रहने वाले 50 वर्षीय नगर निगम में सहायक संपत्ति कर अधिकारी भी पॉजिटिव निकले हैं। इसके अलावा कुंज विहार कॉलोनी निवासी 56 वर्षीय महिला पड़ाव स्थित शासकीय स्कूल में शिक्षिका हैं। महिला की वर्तमान में कोविड सर्वे में ड्यूटी लगी है। वह भी संक्रमित निकली हैं।