केरल के लिए Black Friday साबित हुआ कल का दिन…

पहले भूस्खलन फिर विमान हादसे से हिला प्रदेश

नई दिल्ली। केरल के लिए कल का दिन काफी मुश्किल रहा. एक के बाद एक हुई दो बड़े हादसों ने कई लोगों की जिंदगी को खत्म कर दिया. केरल के लिए कल का दिन ब्लैक फ्राइडे साबित हुआ है. जहां इडुक्की जिले बारिश के कारण शुक्रवार सुबह भूस्खलन में 15 लोगों की मौत हो गई. वहीं कोझिकोड हवाई अड्डे पर हुए इस विमान हादसे में 19 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 100 से ज्यादा लोग घायल हैं.

दरअसल केरल में कल का दिन हादसों भरा रहा पहले भारी बारिश के कारण इडुक्की जिले में राजमाला के पेत्तिमुदी में मूसलाधार बारिश के कारण शुक्रवार सुबह भूस्खलन में 15 लोगों की मौत हो गई. मन्नार के पास हुए इस भूस्खलन में एक चाय बागान के कई मजदूरों के फंसे हुए हैं. वहीं दूसरे हादसे की बात करें तो देर शाम दुबई से केरल आ रहा एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान IX-1344 कोझिकोड हवाई अड्डे पर लैंडिंग के दौरान रनवे पर फिसल गया. इस हादसे में विमान के पायलट समेत 17 लोगों की मौत हो गई जबकि 100 से ज्यादा यात्री घायल हो गए.

केरल के इडुक्की में हुई भूस्खलन की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है और मुआवजे की घोषणा की है. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने मुआवजे की घोषणा करते हुए ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री राहत कोष से भूस्खलन की घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार को 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी. घायलों के लिए 50,000 रुपये के आर्थिक सहायता की घोषणा की गई है.

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कोझिकोड इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर एयर इंडिया एक्सप्रेस के हदासे के शिकार होने पर दुख जताया है. प्रधानमंत्री ने कहा है कि वह कोझीकोड में हुए विमान हादसे से आहत हैं. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा "कोझिकोड में हुए विमान हादसे से बहुत आहत हूं. मेरे विचार उन लोगों के साथ हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया. प्रार्थना करता हूं कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएं. केरल CM से बात की. अधिकारी घटनास्थल पर हैं और सभी प्रकार की सहायता प्रदान कर रहे हैं." बता दें केरल के मुख्यमंत्री ने पीएम को बताया कि कोझीकोड और मलप्पुरम जिला कलेक्टरों और IG अशोक यादव सहित अधिकारियों की एक टीम हवाई अड्डे पर पहुंची है और बचाव अभियान में लगी हुई है. वहीं केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने वायुसेना से सम्पर्क कर इडुक्की में बचाव अभियान में मदद के लिए उनके हेलीकॉप्टर की मांग की.