सीबीआई के हाथ आई सुशांत की ऑटोप्सी रिपोर्ट

Autopsy Report में सुशांत के गले पर मिला 'लिगेचर मार्क'

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड मामले की जांच अब सीबीआई कर रही है. इसी बीच सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की एक और बात सामने आई है, जिसे लेकर पहले ही कई सवाल खड़े किए जा चुके हैं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सुशांत के गले पर लिगेचर मार्क होने का जिक्र है. आइए जानते हैं, अब ये लिगेचर मार्क क्या होता है? और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह क्या बताई गई है. सुशांत सिंह राजपूत की ऑटोप्सी रिपोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत की मौत की वजह फांसी से दम घुटना बताया गया है, लेकिन इस रिपोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत के गले पर लिगेचर मार्क होने का भी जिक्र है. लिगेचर मार्क जिसे आम भाषा में गहरा निशान कहते हैं. आमतौर पर ये यू शेप का होता है, जो बताता कि गला किसी रस्सी या उसी जैसी चीज से कसा गया है.

 पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गले पर निशान की पूरी तफ्सील दी गई है -

  • सुशांत सिंह राजपूत की बॉडी पर जो निशान था, वो 33 सेंटीमीटर का लंबा था.
  • रस्सी का निशान ठुड्डी से 8 सेंटीमीटर नीचे था
  • गले के दाहिनी तरफ निशान की मोटाई 1 सेंटीमीटर थी
  • गले की बाईं तरफ निशान की मोटाई 3.5 सेंटीमीटर थी

 पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इन निशान के अलावा सुशांत के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं दिखाई दिए. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक सुशांत के गले और सिर के आसपास कोई हड्डी नहीं टूटी थी. सुशांत के पीएम रिपोर्ट को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं, क्योंकि इसमें मौत के वक्त का जिक्र नहीं है. इसके अलावा सुशांत की लाश का कोरोना टेस् भी नहीं किया गया था. अब जब सीबीआई के हाथ सुशांत की ऑटोप्सी रिपोर्ट गई है, तो जांच टीम उन पांचों डॉक्टरों से पूछताछ करेगी, जिन्होंने सुशांत का पोस्टमार्टम किया था.

 रिया चक्रवर्ती भी 15 तारीख को कूपर अस्पताल के शव गृह में पहुंची थीं, जबकि उनके पास इसकी इजाजत नहीं थी. ऐसे में डॉक्टरों से यह भी पूछा जाएगा कि ऑटोप्सी रिपोर्ट आने से पहले रिया 45 मिनट तक वहां क्या कर रही थीं. रिया चक्रवर्ती, सुशांत की रिश्तेदार नहीं हैं, ऐसे में सवाल अस्पताल प्रबंधन पर भी उठ रहे हैं कि रिया को अस्पताल के शव गृह में कैसे प्रवेश मिला, हालांकि रिया से जुड़े लोगों का कहना है कि रिया आखिरी बार सुशांत के चेहरा देखना चाहती थीं.