90 वर्षीय वृद्ध महिला की उम्मीद पर खरे उतरे ऊर्जा मंत्री…
वृद्ध महिला की समस्या का निराकरण कर स्वयं के वाहन से छुड़वाया घर 

ग्वालियर। प्रजातंत्र में राजनेता को जन सेवक कहा जाता है। जन सेवक का दायित्व होता है कि वे जनता की सेवा करे। जनता की भी अपेक्षा जनसेवक से होती है कि उसकी समस्याओं का तत्परता से निराकरण उसके क्षेत्र का जनसेवक करे। 90 वर्षीय वृद्ध महिला बैजन्ती पचौरी भी अपनी समस्या के निराकरण के लिये प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के बंगले पहुँचीं। उनकी अपेक्षाओं पर मंत्री श्री तोमर खरे उतरे और उनकी समस्या का तत्परता से निराकरण कर उन्हें ससम्मान अपनी गाड़ी से उनके निवास स्थान पर पहुँचाया। 

90 वर्षीय वृद्ध महिला बैजन्ती पचौरी राशन की समस्या को लेकर अपने क्षेत्र के जनसेवक प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के ग्वालियर निवास 38 नं. बंगले पर पहुँचीं। मंत्री श्री तोमर की जैसे ही नजर बुजुर्ग महिला पर पड़ी तो उन्होंने तत्काल उनके पास पहुँचकर समस्या को सुना। वृद्ध महिला द्वारा राशन की समस्या बताए जाने पर मंत्री ने उन्हें ससम्मान अपने निवास स्थान पर बिठाया और चाय-पानी पिलाकर संबंधित अधिकारियों के माध्यम से तत्काल उनकी समस्या का निराकरण किया। वृद्ध महिला बैजन्ती पचौरी को अपनी उम्मीद के मुताबिक तत्काल समस्या का समाधान मिला तो उन्होंने अपने जनसेवक को आशीर्वाद देते हुए कहा कि सदा सुखी रहो । 

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने माँ समान वृद्ध महिला से कहा कि आपका बेटा आपका जनसेवक है। आपको किसी भी प्रकार की कभी भी कोई परेशानी हो तो आप मुझे अवश्य याद करें। मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने वृद्ध महिला को अपनी गाड़ी में बिठाकर उनके निवास स्थान तक छुड़वाया। वृद्ध महिला ने जाते-जाते कहा कि गरीबों की समस्याओं का ऐसे ही निराकरण हो जाए तो कोई समस्या ही नहीं बचेगी। मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अपने निजी स्टाफ को भी निर्देशित किया है कि कोई भी बुजुर्ग या परेशान व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आता है तो उसे गंभीरता से सुनें और उसका निराकरण करें।