कलेक्टर ने अभियान की समीक्षा के दौरान दिए निर्देश…
पूर्ण गंभीरता से चलाया जाए “किल कोरोना अभियान” : श्री सिंह

ग्वालियर। कोविड-19 के संक्रमण को समाप्त करने के लिये सरकार द्वारा “किल कोरोना अभियान” चलाया जा रहा है। प्रदेश में इस अभियान को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। अभियान के तहत शतप्रतिशत घरों का सर्वेक्षण किया जाना है। सर्वेक्षण के कार्य में लापरवाही बरतने वाले किसी भी अधिकारी और कर्मचारी को बख्शा नहीं जायेगा। कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिये “किल कोरोना अभियान” को प्रभावी रूप से चलाना होगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने शनिवार को मोतीमहल के मानसभागार में जिले के सभी इंसीडेंट कमांडरों की बैठक में यह निर्देश दिए हैं। बैठक में सीईओ जिला पंचायत शिवम वर्मा, एडीएम किशोर कन्याल सहित सभी इंसीडेंट कमांडर के साथ ही स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे। 

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि “किल कोरोना अभियान” केवल स्वास्थ्य विभाग का अभियान नहीं है। इस अभियान में स्वास्थ्य, राजस्व, महिला-बाल विकास के साथ अन्य विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों की सक्रिय भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने बैठक में निर्देशित किया कि अभियान के तहत गठित किए गए दल में सर्वेक्षण के दौरान अगर कोई अधिकारी या कर्मचारी अनुपस्थित होता है तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जाए। स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग का मैदानी अमला दल में रहकर सर्वेक्षण का कार्य पूर्ण गंभीरता के साथ करें। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सभी इंसीडेंट कमांडरों से कहा है कि किल कोरोना अभियान का नेतृत्व सभी इंसीडेंट कमांडर अपने-अपने क्षेत्र में करें। 

इंसीडेंट कमांडर अपने क्षेत्र के सभी दलों को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ सर्वेक्षण के दौरान एकत्र किए जा रहे आंकड़ों को साफ्टवेयर पर लोड भी कराएं। सर्वेक्षण के दौरान कोई भी व्यक्ति संक्रमित पाया जाता है तो तत्काल उसका टेस्ट भी कराया जाए। टेस्ट कराने वाले हर व्यक्ति को होम क्वारंटाइन किया जाए। होम क्वारंटान का पर्चा भी उसके घर पर अवश्य चस्पा किया जाए।  बैठक में कलेक्टर ने यह भी निर्देशित किया कि सभी इंसीडेंट कमांडर अपने-अपने क्षेत्र में अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये वार्ड समितियों का सहयोग लें। वार्ड समिति के सदस्य भी सर्वेक्षण के समय साथ में रहें तथा लोगों को समझाइश देकर कोरोना के संक्रमण की रोकथाम में अपनी सक्रिय भागीदारी निभायें, यह सुनिश्चित किया जाए।