मुख्यमंत्री ने विमानतल पर अधिकारियों को दिये निर्देश…
आर्थिक गतिविधियाँ नहीं रूकना चाहिए : शिवराज

ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण को रोकना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। संक्रमण की रोकथाम के साथ-साथ आमजनों को किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो यह भी सुनिश्चित किया जाए। आर्थिक गतिविधियाँ निरंतर चलती रहें और कोविड का संक्रमण न फैले इस दिशा में प्रभावी कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को ग्वालियर प्रवास के दौरान विमान तल पर कोरोना संक्रमण के संबंध में अधिकारियों से चर्चा करते हुए यह निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस बात का ध्यान रहे कि लॉकडाउन के कारण आमजनों एवं रोज कमा कर खाने वाले छोटे-छोटे व्यवसाइयों को परेशानी न हो। साथ ही आर्थिक गतिविधियाँ भी चलती रहें। उन्होंने संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के साथ-साथ आमजनों को जागृत करने के लिए भी विशेष प्रयास करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के साथ-साथ भीड प्रबंधन पर विशेष ध्यान दिया जाए। 

उन्होंने कहा कि जो लोग कोविड पॉजीटिव पाये जाते है, उनका बेहतर से बेहतर इलाज किया जाए। किसी भी व्यक्ति को स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव की वजह से परेशानी नहीं आना चाहिए।  कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किये जा रहे प्रयासों के संबंध में मुख्यमंत्री चौहान को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में अस्पतालों के प्रबंधन के लिए ऑनलाईन व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की गई हैं। प्रशासन के पास अब हर अस्पताल की व्यवस्थाएं ऑनलाईन उलब्ध हैं। उसी के आधार पर कोरोना संक्रमण की रोकथाम और पॉजीटिव पाये गये लोगों के उपचार का प्रबंधन किया जा रहा है। कलेक्टर ने बताया कि जिले में अब तक कुल 1707 पॉजीटिव प्रकरण पाये गये हैं। जिनमें केवल 753 एक्टिव केस वर्तमान में हैं। 946 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।  कोरोना के एक्टिव केसों में भी तेजी के साथ सुधार हो रहा है। प्रतिदिन मरीज ठीक होकर अस्पतालों से अपने घरों को जा रहे हैं। 

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जानकारी दी कि लॉकडाउन के संबंध में भी शीघ्र ही क्राईसेस मैनेजमेंट की बैठक आयोजित कर निर्णय लिया जाएगा। कोरोना के संक्रमण की रोकथाम में किये जा रहे प्रयासों से आर्थिक गतिविधियाँ न रूके और लोगों को परेशानी ना हो यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि कन्ट्रोल कमांड सेंटर के माध्यम से वीडियो कॉलिंग के द्वारा भी आमजनों को कोरोना संक्रमण के संबंध में चिकित्सीय सलाह दी जा रही है। इसका लगभग 1500 लोगों ने अब तक लाभ उठाया है। इसके साथ ही किल कोरोना अभियान के तहत भी गठित दलों द्वारा घर घर संपर्क कर पीडितों को चिन्हित कर उपचार करने की कार्यवाही की गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कोरोना संक्रमंण के संबंध में अधिकारियों से की गई चर्चा के दौरान संभागीय आयुक्त एमबी ओझा, आईजी अविनाश शर्मा, पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, सीईओ जिला पंचायत शिवम वर्मा, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।