रिक्त पड़े पदों को भरने के साथ ही मैदानी स्तर पर जोन और रेंज में…
30 जून के बाद एडीजी-आईजी के रिक्त पदों पर होगा फेरबदल !


भोपाल। पुलिस विभाग तथा लोकायुक्त पुलिस संगठन में रिक्त पड़े पदों को भरने के साथ ही मैदानी स्तर पर जोन और रेंज में पुलिस अधीक्षकों के थोक में तबादले किए जाने की तैयारी चल रही है। पीएचक्यू की कुछ शाखाएं जहां एडीजी के पास ज्यादा काम नहीं है, उन्हें लोकायुक्त में भेजा जा सकता है। आरएंडडी में पदस्थ एडीजी बीबी शर्मा, सामुदायिक पुलिसिंग में पदस्थ एडीजी अनिल कुमार गुप्ता व ट्रेनिंग शाखा में पदस्थ एडीजी अनुराधा शंकर सिंह तथा प्रतिनियुक्ति से वापस आए ए. साईं मनोहर को लोकायुक्त में प्रतिनियुक्ति पर भेजा जा सकता है। वर्तमान में ट्रेनिंग शाखा में स्पेशल डीजी पवन जैन भी पदस्थ हैं। इसी तरह ईओडब्ल्यू की उज्जैन संभागीय इकाई से एसपी राजपूत की पीएचक्यू में वापिसी से वहां एसपी का पद रिक्त है। लोकायुक्त में लंबे समय से एडीजी के दोनों पद रिक्त हैं। 

यहां डीआईजी और आईजी के पद समाप्त कर इन पदों का उन्नयन कर एडीजी की पोस्टिंग की जा रही है। एडीजी बी मधु कुमार को परिवहन आयुक्त बनाने के बाद से करीब 6 माह से उक्त पद रिक्त हैं। इसी तरह पवन जैन को डीजी के पद पर पदोन्नत करने के बाद से उक्त पद भी रिक्त है। लोकायुक्त संगठन की कुछ इकाइयों में हाल ही में पुलिस अधीक्षकों के फेरबदल किए गए हैं। जिलों से पुलिस मुख्यालय स्थानांतरित किए पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारियों की विभिन्न शाखाओं में एडीजी के पदों पर पदस्थापना की जाएगी। उनकी ज्वॉइनिंग के बाद पुलिस अधीक्षक बनाए गए अधिकारियों के रिक्त पदों पर पोस्टिंग की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक पीएचक्यू की प्रशासनिक शाखा ने हाल ही में अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि तबादला आदेश मिलने के दो दिन के भीतर स्थानांतरित, अधिकारियों कर्मचारियों को कार्यमुक्त किया जाए। 

पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरशन के चैयरमैन (डीजी) शैलेन्द्र श्रीवास्तव इसी माह 30 जून को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उनके रिटायर होने से आईपीएस 1987 बैच की अधिकारी व एडीजी रेलवे अरुणा मोहन राव को डीजी वेतनमान पर पदोन्नत किया जाएगा। पदोन्नति के बाद उन्हें किसी शाखा में स्पेशल डीजी बनाया जाएगा। जबकि जीआरपी में एडीजी की पोस्टिंग की जाएगी। इसी तरह पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन में पूर्व डीजीपी तथा डायरेक्टर स्पोर्ट्स वीके सिंह को पदस्थ किया जा सकता है। डीजीपी बनाने से पहले वे कार्पोरेशन में ही पदस्थ थे। कॉरपोरेशन में डीजी रैंक के सीनियर अफसरों की चेयरमैन के पद पर पोस्टिंग की जाती है। बता दें, कि वीके सिंह के बैच के विवेक जौहरी अभी डीजीपी हैं। वहीं संजय चौधरी डीजी जेल हैं। डीजी पुलिस सुधार एमएस गुप्ता भी कुछ माह बाद रिटायर हो जाएंगे। ऐसा माना जा रहा है कि इन सबके चलते 30 जून तक नए सिरे से पदस्थापना की जायगी।