संभागआयुक्त ने की कार्यों की समीक्षा…
संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी विभागों के अमले का हो उपयोग : श्री ओझा

ग्वालियर। कोविड-19 की महामारी के समय संक्रमण की रोकथाम के लिये शासकीय अमले का चुनाव की तरह उपयोग किया जाए। हर शासकीय अधिकारी-कर्मचारी कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के कार्य को करे। संभागीय आयुक्त एम बी ओझा ने गुरूवार को कलेक्टर कार्यालय में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये जिले में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिए हैं। ग्वालियर एनआईसी कक्ष में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के संबंध में दिए गए निर्देशों के पालन में संभागीय आयुक्त एम बी ओझा ने अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। बैठक में कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, सीईओ जिला पंचायत शिवम वर्मा, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, डीन मेडीकल कॉलेज डॉ. एस एन अयंगर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस के वर्मा सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। संभाग आयुक्त एम बी ओझा ने कलेक्टर से कहा कि जिले में नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के कार्य में सभी विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी मैदानी स्तर पर जिम्मेदारियां सौंपी जाएं। 

जिस प्रकार चुनाव में अधिकारी-कर्मचारियों को निर्वाचन के संबंध में दायित्व सौंपे जाते हैं उसी प्रकार सभी विभागीय अधिकारियों का कोरोना महामारी के समय संक्रमण की रोकथाम के लिये उपयोग किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि महामारी को देखते हुए जिले की आगामी रणनीति बनाकर उस पर प्रभावी कार्रवाई की जाए। शहर में जितने भी प्रमुख संस्थान और उनके संसाधन हैं, उसका आंकलन कर आगामी समय के लिये चिन्हित किया जाए। स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने की दिशा में भी हर संभव प्रयास किए जाएं। महामारी के दौरान अगर मरीजों की संख्या बढ़ती है तो उसको देखते हुए भी जिले में व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाएं। संभाग आयुक्त श्री ओझा ने बैठक में कहा कि लॉकडाउन के कारण मध्यप्रदेश के ऐसे श्रमिक जो अन्य प्रदेशों में कार्य कर रहे थे वे अपने घर लौटे हैं। ग्वालियर जिले में भी बड़ी संख्या में श्रमिक आए हैं। इन श्रमिकों को भी स्वरोजगार से जोड़ने की दिशा में रणनीति तैयार कर कार्रवाई की जाना आवश्यक है। 

ऐसे श्रमिकों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिये छोटे-छोटे व्यवसाय हेतु ऋण उपलब्ध कराने की भी रणनीति बनाई जाए। संभाग आयुक्त एम बी ओझा ने कहा कि कोरोना महामारी के समय सावधानी बरतना सबसे महत्वपूर्ण हैं। संक्रमण की रोकथाम के लिये आम जन सावधानी बरतें, इसके लिये जन जागृति अभियान प्रभावी रूप से चलाना आवश्यक है। ग्वालियर में वार्ड समितियों को सशक्त करते हुए जन जागृति अभियान चलाया जाए। इस अभियान में शासकीय अमले का भी अधिक से अधिक उपयोग हो और लोगों में जन जागृति के माध्यम से कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम की जाए। संभागीय आयुक्त एम बी ओझा ने पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन से भी कहा कि नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण के दौर में आदेशों का पालन न करने तथा संक्रमण के दौर में बिना मास्क भ्रमण करने वाले वाहन चालकों के विरूद्ध भी चालान की कार्रवाई की जाए। अनावश्क रूप से शहर में घूमने वालों के लिये भी रोको-टोको अभियान पुलिस विभाग के माध्यम से चलाया जाए।