भारतीय डिप्लोमैट की गाड़ी का ISI के लोगों ने किया पीछा…
जासूसी में पकड़े जाने से बौखलाया पाकिस्तान

नई दिल्ली। भारत में पाकिस्तान के जासूसों के पकड़े जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. अब पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने पाकिस्तान में भारत के डिप्लोमैट के पीछे जासूस लगा दिए हैं. एक वीडियो सामने आया है जिसमें ISI का एजेंट बाइक पर सवार होकर भारतीय राजनयिक का पीछा कर रहा है. एबीपी न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक इस्लामाबाद में भारतीय मिशन प्रमुख गौरव अहलुवालिया को परेशान करने में पाकिस्तान जुट गया है. बता दें कि ISI के एजेंटों को दिल्ली में पकड़े जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और पहले तो उसने गौरव अहलुवालिया को इस बात के लिए परेशान किया गया. इसके बाद गौरव अहलुवालिया के घर के बाहर ISI के लोग तैनात कर दिए गए.
 
जासूसी के आरोप में पाकिस्तानी उच्चायोग के पकड़े गए दो अधिकारियों को लेकर दिल्ली पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. दिल्ली पुलिस का कहना है कि उनकी मंशा रेलगाड़ियों से सेना की इकाइयों की आवाजाही का विस्तृत ब्यौरा हासिल करना था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की पकड़ में आए पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अधिकारी धन के बदले एक भारतीय नागरिक से भारत के सुरक्षा प्रतिष्ठानों से जुड़े संवेदनशील दस्तावेज हासिल करना चाह रहे थे. पुलिस को पूछताछ में पता चला कि एक आरोपी हुसैन कई फर्जी पहचान के माध्यम से काम करता है. उसकी मंशा कई संगठनों एवं विभागों के लोगों को लालच देकर सूचना हासिल करना होता था. 

उसने भारतीय रेलवे में काम करने वाले एक व्यक्ति से संपर्क साधने के लिए खुद को मीडियाकर्मी का भाई गौतम बताया. अतिरिक्त जनसंपर्क अधिकारी (दिल्ली पुलिस) अनिल मित्तल ने बताया कि उसने यह कहकर विश्वास जीतने का प्रयास किया कि उसका भाई भारतीय रेलवे पर एक खबर कर रहा है. जिसके लिए उसे रेलगाड़ियों की आवाजाही के बारे में सूचना चाहिए. हालांकि उसका मकसद रेल कर्मचारी को लालच देकर जाल में फंसाना था. जिससे रेलगाड़ियों के माध्यम से सेना की इकाइयों और साजो-सामान की आवाजाही के बारे में सूचना हासिल की जा सके.