पतंजलि ने बना ली कोरोना पर दवाई…
वायरस को मात देने वाली दवाई का स्वामी रामदेव ने किया ऐलान

दुनियाभार में इस वक्त कोरोना वायरस की महामारी को खत्म करने के लिए दवाएं बनाने का काम तेजी से चल रह है। कई बड़ी-बड़ी फार्मा कंपनियां इस दौड़ में शामिल हैं। इस बीच बाबा राम देव ने कोरोना का इलाज करने के लिए तीन दवाओं को लॉन्च किया है। योगगुरु की पतंजलि कंपनी का दावा है कि उन्होंने इस महामारी को मात देने वाली दवा तैयार कर ली है। मंगलवार को प्रेस वार्ता में बाबा रामदेव ने कहा कि दुनिया इसका इंतजार कर रही थी कि कोरोना वायरस की कोई दवाई निकले। 

आज हमें गर्व है कि कोरोना वायरस की पहली आयुर्वेदिक दवाई को हमने तैयार कर लिया है। दवा अगले हफ्ते तक बाजार में उपलब्ध हो जाएगी। योग गुरू ने कहा कि इस आयुर्वेदिक दवाई का नाम कोरोनिल है। उन्होंने कहा कि हमने क्लीनिकल कंट्रोल स्टडी की, सौ लोगों पर इसका टेस्ट किया गया। तीन दिन के अंदर 65 फीसदी रोगी पॉजिटिव से नेगेटिव हो गए। योगगुरु रामदेव ने कहा कि सात दिन में सौ फीसदी लोग ठीक हो गए, हमने पूरी रिसर्च के बाद इसे तैयार किया है।

 दवा का रिकवरी रेट 100 परसेंट है। बाबा रामदेव ने कोरोना किट के बारे में बताया कि इसमें वायरस के इलाज के लिए तीन दवाइयां दी गईं हैं। श्वासारी बट्टी, दिव्य कोरोनिल टेबलेट और अणु तेल का एक साथ प्रयोग करना है। ये दवाएं ब्लडप्रेशर, दिल की धड़कनों और और नाड़ी को भी नियंत्रित करती हैं।  उन्होंने बताया कि ये तीनों दवाएं मुख्यरूप से श्वसन तंत्र को मजबूत करती है, जिससे कोरोना संक्रमण का असर नहीं होता। इसके साथ ही दवा सर्दी जुकाम और बुखार को भी नियंत्रित करती हैं। 

पतंजलि योगपीठ ने बताया कि कोरोना टैबलेट पर हुआ यह शोध पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट हरिद्वार और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस जयपुर के संयुक्त प्रयासों से किया गया है। टैबलेट का निर्माण दिव्य फार्मेसी और पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड हरिद्वार में किया जा रहा है। पतंजलि ने लॉन्च की कोरोना की दवाएं, 100 फीसदी असरदार होने का दावा। योग गुरू ने कहा कि इस आयुर्वेदिक दवाई का नाम कोरोनिल है। इससे तीन दिन के अंदर 65 फीसदी रोगी पॉजिटिव से नेगेटिव हो गए।