आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देने के लिए…
50 लाख से अधिक लोगों को मिलेगा 'पीएम स्वनिधि' योजना का लाभ : पीएम मोदी

नई दिल्ली। मोदी सरकार के दूसरे साल में सोमवार को हुई पहली कैबिनेट बैठक में किसानों, रेहड़ी-पटरी वालों और MSME के लिए कई बड़े फैसले लिए गए. आत्मनिर्भर भारत के लिए रोडमैप प्रस्तुत किया गया. पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देने के लिए येे फैसले लिए गए हैं.  

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कैबिनेट के फैसलों की जानकारी दी. उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा, "जय किसान के मंत्र को आगे बढ़ाते हुए कैबिनेट ने अन्नदाताओं के हक में बड़े फैसले किए हैं. इनमें खरीफ की 14 फसलों के लिए लागत का कम से कम डेढ़ गुना एमएसपी देना सुनिश्चित किया गया है. साथ ही 3 लाख रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन चुकाने की अवधि भी बढ़ा दी गई है" 

एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा, "देश में पहली बार सरकार ने रेहड़ी-पटरी वालों और ठेले पर सामान बेचने वालों के रोजगार के लिए लोन की व्यवस्था की है. 'पीएम स्वनिधि' योजना से 50 लाख से अधिक लोगों को लाभ मिलेगा. इससे ये लोग कोरोना संकट के समय अपने कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देंगे."  

अंत में उन्होंने लिखा, "आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देने के लिए हमने न केवल MSMEs सेक्टर की परिभाषा बदली है, बल्कि इसमें नई जान फूंकने के लिए कई प्रस्तावों को भी मंजूरी दी है. इससे संकटग्रस्त छोटे और मध्यम उद्योगों को लाभ मिलेगा, साथ ही रोजगार के अपार अवसर सृजित होंगे."