मानसून ने तय समय पर दस्तक दी…
प्रदेश के 17 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी
मध्य प्रदेश के 17 जिलों में भारी ...
भोपाल । मध्यप्रदेश में मानसून के प्रवेश करते ही कई जिलों में बारिश और आंधी का दौर शुरू हो गया है। सोमवार को भोपाल सहित प्रदेश के 22 जिलों में बारिश की शुरुआत हो गई। मानसून ने तय समय पर दस्तक दी है। मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मानसून ने प्रदेश के होशंगाबाद, इंदौर, शहडोल और जबलपुर संभाग के ज्यादातर जिलों में दस्तक दे दी है। वहीं उज्जैन संभाग के कुछ जिलों में भी मानसून ने अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी है। प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान मानसून की पहली बारिश इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर संभाग के साथ ही उज्जैन, होशंगाबाद में दर्ज की गई।

मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे के दौरान 17 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई हैं। इसके लिए यलो अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं भोपाल सहित रीवा, शहडोल, जबलपुर, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर व चंबल संभाग में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने की उम्मीद है। इधर, आगामी 48 घंटे के दौरान मानूसन के पूर्वी मध्यप्रदेश की तरफ बढ़ने की पूरी संभावना है। मानसून की उत्तरी सीमा कांडला अहदाबाद, इंदौर, नरसिंहपुर, उमरिया एवं बलिया से होकर गुजर रही है।

भोपाल सहित प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाले कारण
दक्षिण-पूर्वी, उत्तर-मप्र एवं उससे लगे क्षेत्र में हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात 7.6 किलोमीटर की ऊंचाई तक बना हुआ है जो दक्षिण पश्चिम दिशा की ओर ऊंचाई के साथ झुका हुआ है।

पूर्वी पश्चिमी हवाओं का मिलन पश्चिम बंगल के हिमालय की तराई एवं सिक्किम के उत्तरी कोकण के बीच बना हुआ है, जो दक्षिण मप्र से होकर गुजर रही है। यह 3.1 से 5.8 किलोमीटर की ऊंचाई पर बना हुआ है।

एक द्रोड़िका उत्तर पश्चिम राजस्थान से पश्चिम बंगाल के गंगा के क्षेत्र तक जा रही है जो उत्तरी राजस्थान उत्तरी मप्र एवं झारखंड से होकर गुजर रही है, जो हवा के ऊपरी भाग में 9010 मीटर की ऊंचाई तक बना हुआ है। एक कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी बंगाल की खाड़ी एवं उससे लगे क्षेत्र में 19 जून को बनने की संभावना है। इससे मप्र में मानसून कमजोर हो सकता है।

मौसम विभाग के अनुसार अनूपपुर, बड़वानी, बैतूल, छिंदवाड़ा, धार, डिंडोरी, होशंगाबाद, हरदा, झाबुआ, खरगौन, नरसिंहपुर, रीवा, सिवनी, शहडोल, सीधी, सिंगरौली, उमरिया में आने वाले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश की चेतावनी है। इसके लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

इधर, सोमवार को राजधानी में सुबह से धूप खिली, दोपहर को बादल छाए और हल्की बौछारें पड़ने लगी। 12 बजे से 10 मिनट बौछारें पड़ीं। इसके बाद दोपहर 3 बजे से हल्की बारिश होना शुरू हुई। करीब 15 दिन चलने वाली इस बारिश से शहर में 13.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है।