ग्वालियर-चंबल संभाग की बैठक 15 मई को…
संभागीय आयुक्त ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की कृषि कार्यों की समीक्षा

ग्वालियर। रबी कार्यक्रम की समीक्षा एवं खरीफ वर्ष 2020 की तैयारियों के लिये ग्वालियर-चंबल संभाग की बैठक 15 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रात: 10.30 बजे से प्रारंभ होगी। इस बैठक में ग्वालियर-चंबल संभाग में पशुपालन एवं डेयरी, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विभाग, उद्यानिकी, सहकारिता के साथ-साथ कृषि एवं संबद्ध संस्थाओं की समीक्षा की जायेगी। इसके साथ ही ग्वालियर-चंबल संभाग में खरीफ वर्ष 2020 की तैयारियों के संबंध में भी दिशा-निर्देश दिए जायेंगे। 

संभाग आयुक्त ग्वालियर-चंबल संभाग एम बी ओझा ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 15 मई को आयोजित होने वाली कृषि संबंधी महत्वपूर्ण बैठक की तैयारियों की समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने ग्वालियर संभाग के सभी जिलों में खरीफ वर्ष 2020 की तैयारियों के लिये जो कार्ययोजना तैयार की गई है, उसके संबंध में चर्चा की। 

संभाग आयुक्त श्री ओझा ने समीक्षा के दौरान निर्देशित किया कि ग्वालियर-चंबल संभाग में कृषि के साथ-साथ पशुपालन, मछुआ कल्याण, उद्यानिकी को भी प्रोत्साहित करने का कार्यक्रम तैयार किया जाए। किसानों को भी खेती किसानी के साथ-साथ पशुपालन और उद्यानिकी के लिये भी प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि खरीफ कार्यक्रम के लिये खाद-बीज की मांग और उसकी उपलब्धता के संबंध में भी विस्तृत समीक्षा कर कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत की जाए। गत वर्षों में जिन कार्यों में दिक्कतें आई हैं उन्हें रेखांकित करते हुए इस वर्ष उनके निराकरण का पुख्ता प्रबंध कार्ययोजना में किया जाए। 

संभाग आयुक्त एम बी ओझा ने मछली पालन, उद्यानिकी के अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि वर्ष 2020 के लिये जो कार्ययोजना तैयार की जाए वह पूरी तरह से क्षेत्र में सफल हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए। सहकारिता के संबंध में भी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सहकारी समितियों में धोखाधड़ी एवं गबन के जो प्रकरण हैं उनमें सख्ती के साथ कार्रवाई कर वसूली की जाए। मछुआ कल्याण के तहत संभाग में जो भी तालाब हैं उन्हें जीआईएस से संबद्ध किया जाए। सभी मछुआ कल्याण समितियों का भी सर्वेक्षण कर उनकी वस्तुस्थिति की रिपोर्ट प्रस्तुत करें।