कोरोना का पाठ पढ़ाने पहुंचे...

कलेक्टर-एसपी के सामने ही बना सोशल डिस्टेंसिंग का मज़ाक 


ग्वालियर। आवश्यक वस्तुओं का परिवहन बहाल रहे इस मंशा से ग्वालियर ट्रांसपोर्ट नगर को खोलने की अनुमति बीते दिनों जिला प्रशासन द्वारा जारी की गई थी। कोरोना से बचाव के मद्देनजर क्या इंतजाम किए गए हैं, यह जानने के लिए कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह व एसपी नवनीत भसीन समेत तमाम पुलिस व प्रशानिक अधिकारी ट्रांसपोर्ट नगर पहुंचे।

यहां ट्रांसपोर्टर्स के साथ बैठक आयोजित की गई जहां, विभिन्ना समस्याओं व समाधानों पर चर्चा की गई। लेकिन इस पूरी कवायद के बीच कलेक्टर-एसपी के सामने ही सोशल डिस्टेंसिंग का मखौल उड़ता हुआ दिखाई दिया।

सैंकड़ों की संख्या में न केवल ट्रांसपोर्टर्स, ट्रक ड्रायवर-कंडक्टर, मिस्त्री एक जगह जुटे हुए थे। एक मीटर तो क्या एक फीट की भी शारीरिक दूरी नहीं थी। इतना ही नहीं, समाने कुर्सियों पर बैठे अधिकारियों के बीच भी पर्याप्त दूरी नहीं थी। भीड़ में खड़े कई लोग मास्क भी नहीं लगाए हुए थे।

खास बात यह है कि कलेक्टर, एसपी समेत स्थानीय पुलिस ट्रांसपोर्ट नगर को कोरोना मुक्त रखे जाने के लिए मूलभूत नियमों का पालन करने के लिए कह रहे थे। इस अवसर पर ट्रांसपोर्ट नगर के व्यवसाइयों द्वारा फूलों की बारिश कर अधिकारियों का स्वागत भी किया गया।

ट्रांसपोर्ट नगर के लिए नियम :-

  • सभी लोगों के पास आई-कार्ड होना अनिवार्य।
  • ड्राइवर व बाहर से आए अन्य व्यक्ति को विजिटर पास देना अनिवार्य।
  • ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस चौकी पर डॉक्टर व प्रशासन जांच के लिए मौजूद रहेगा।
  • ट्रांसपोर्ट नगर में प्रवेश करने पर इंट्री करना अनिवार्य।
  • ट्रांसपोर्टर्स को ड्रायवर्स का रिकॉर्ड रखना होगा।
  • ड्राइवर सवारी न बैठाएं, यह सुनिश्चित करना होगा।