प्रद्युमन सिंह तोमर का कांग्रेस को जवाब...
सिंधिया कभी पद की दौड़ में नहीं रहते और न आगे रहेंगे : श्री तोमर

ग्वालियर। मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर इमारती देवी के बाद सिंधिया खेमे से आने वाले प्रद्युमन सिंह तोमर का बयान सामने आया है. कमलनाथ सरकार में भी मंत्री रह चुके तोमर ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है. ऐसे में वह जो निर्णय लेंगे सभी उनके साथ खड़े नजर आएंगे. ज्योतिरादित्य सिंधिया के केंद्रीय मंत्री बनाये जाने पर भी प्रद्युमन तोमर ने कहा कि सिंधिया कभी भी पद की दौड़ में नहीं रहते. न आगे रहेंगे.

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर इमरती देवी के बयान पर कांग्रेस ने बिना नाम लिए सिंधिया पर निशाना साधा है. जिस पर प्रद्युमन तोमर ने कहा कि बीजेपी जहां चाहे वहां सिंधिया का उपयोग करेगी. वह सम्मान के साथ काम करेंगे. वहीं बार-बार सत्ता पर कांग्रेस के हमलों पर प्रद्युमन तोमर ने बोले कि यह समय संकट का समय है. हम रहेंगे तो राजनीति रहेगी. इसलिए कांग्रेस राजनीति न करें.

पूर्व मंत्री तोमर ने प्रशासनिक अधिकारियों के ट्रांसफर पर कांग्रेस के आरोपों का भी जवाब दिया. तोमर ने कहा कि कमलनाथ सरकार में ट्रांसफर उद्योग का धंधा चलता था. बीजेपी सरकार में तो व्यवस्था के तहत ट्रांसफर हो रहे हैं. उन्होंने पूर्व की सरकार पर आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार में शाम को ट्रांसफर होता था और सुबह आदेश बदल जाते थे. कांग्रेस के आरोपों पर उन्होंने तंज कसा कि 'सौ चूहे खाकर बिल्ली हज चली', जैसी बात वह कर रही है. इसलिए कांग्रेस को बीजेपी पर आरोप लगाने का कोई हक नहीं हैं.

कांग्रेस के मीडिया कोऑर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा ने सिंधिया का नाम लिए बिना कटाक्ष किया है. उन्होंने ट्वीट किया. इसमें लिखा, ''कहां हैं वे तथाकथित जनसेवक, जो कांग्रेस सरकार में सड़कों पर उतरने की धमकी देते थे? आज मज़दूरों की बेबसी पर उनका एक भी शब्द तक नहीं आया? सत्ता की ढील में जनसेवा भूल गये, सच कहने की हिम्मत व साहस दिखाओ, सरकार को आइना दिखाओ, नहीं तो अपने नाम से जनसेवक हटाओ.''