इन बातों का रखें ध्यान...

इम्युनिटी बढ़ाने में सहायक है आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट : डाॅ. सिजोरिया



आजकल कोरोना का कहर हर जगह दिखाई दे रहा है। ऐसे में आपको अपने लक्षणों पर ध्यान दें साथ ही यह कोशिश करें कि आपका इम्युनिटी सिस्टम मजबूत रहे। इसमें होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक दवाएं काफी फायदेमंद साबित हो रही हैं। जहां तक आयुर्वेदिक दवा की बात है तो आप गिलाॅय का सेवन लगातार करते रहें। इससे बाॅडी में रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ जाती है। 

इसके अलावा अन्य आयुर्वेदिक दवाएं भी डाॅक्टर की सलाह से ली जा सकती हैं, लेकिन बिना डाॅक्टर की सलाह के कोई दवा लें। यह बात डाॅ. केके सिजोरिया ने कही। वह जेयू के हेल्थ सेंटर में हुए कोरोना अवेयरनेस प्रोग्राम में बोल रहे थे। इस दौरान कोरोना से बचाव के लिए आयुर्वेदिक होम्योपैथिक दवाओं का वितरण भी किया गया। इस अवसर पर डाॅ. दीपमाला शर्मा, हेल्थ सेंटर के कोआॅर्डिनेटर प्रो. जीबीकेएस प्रसाद, जेयू के सिक्योरिटी आॅफिसर डाॅ. केशव सिंह गुर्जर सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

डाॅ. दीपमाला शर्मा ने कहा कि इस बात को ध्यान रखें कि कोरोना से बचाव ही इलाज है। यदि आपको जुकाम, खांसी, गले में खरास और सांस लेने में बार- बार समस्या आती है, तो तुरंत डाॅक्टर से संपर्क करें। ये कोरोना के लक्षण हो सकते हैं। इस बीमारी से बचने के लिए हाइजेनिक रहें, नाॅनवेज का सेवन करें और जिन लोगों को जुकाम- खांसी है, उनसे दूरी में रहें और लोगों से हाथ मिलाने से बचें। कई लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं है, इसलिए अपने आसपास के लोगों को भी इस बारे में अवेयर करें।

उन्होंने कहा कि आपको अपने इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत रखने की जरूरत है। दूसरी बात होम्योपैथिक दवा का सेवन डाॅक्टर की सलाह से करते रहें। मार्केट के फूड का सेवन करने से बचें, नाॅनवेज से परहेज रखें पानी को बाॅइल करके पीएं। जंक फूड खाएं। होम्योपैथिक दवाओं के माध्यम से भी इस वायरस के प्रकोप से बचा जा सकता है। इसके अलावा बैलेंस फूड लें और यदि आपको सर्दी, खांसी जैसे लक्षण होते हैं, तो तुरंत डाॅक्टर की सलाह लें।

इन बातों का रखें ख्याल
  • ·         संक्रामक व्यक्ति से दूरी बनाए  रखें।
  • ·         अल्कोहल बेस्ड सेनेटाइजर का उपयोग करें
  • ·         मास्क लगाएं साथ ही हाइजेनिक रहें।