1 जून से चलने वाली ट्रेनों के टिकट किए रद्द...
महाराष्ट्र में ट्रेन यात्रा पर लगी रोक

मुंबई। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने एक जिले से दूसरे जिले की यात्रा पर पाबंदी लगा दी है। इस पाबंदी के बाद भारतीय रेलवे ने उन यात्रियों के रेल टिकट रद्द कर दिए हैं, जिनके यात्रा आरंभ होने वाले और गंतव्य स्टेशन राज्य के भीतर ही आते हैं। भारतीय रेलवे ने कहा है कि वह 1 जून से चलने वाली ट्रेनों के लिए रद्द किए गए सभी टिकटों का पूरा पैसा रिफंड करेगी। रेलवे ने कहा है कि अगले आदेश तक महाराष्ट्र के भीतर इंट्रा-स्टेट बुकिंग पर पाबंदी लगा दी है। यानी अब राज्य के भीतर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए रेल टिकट नहीं दिया जाएगा।  

रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि इसका मतलब यह कतई नहीं है कि महाराष्ट्र के स्टेशन से कोई ट्रेन नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि लोग राज्य के भीतर यात्रा के लिए ट्रेन की सवारी नहीं कर पाएंगे। उदाहरण के लिए, यदि कोई ट्रेन मुंबई से कानपुर के लिए नासिक होते हुए जाती है, तो कोई भी यात्री जो महाराष्ट्र के किसी भी स्टेशन से इस ट्रेन में बैठा है, वह राज्य की सीमा के भीतर नहीं उतर सकता है। हालांकि, कोई यात्री नासिक से ट्रेन में सवार हो सकता है और राज्य के बाहर के लिए यात्रा कर सकता है। प्रवक्ता ने कहा कि जिन लोगों ने राज्य की सीमा के भीतर यात्रा के लिए ट्रेन टिकट बुक करवाए थे, केवल उन्हीं के टिकट रद्द किए जाएंगे।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के गुरुवार को 2345 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 41,642 हो गई। पिछले 24 घंटे में 64 लोगों की मौत हुई और कुल मृतकों की संख्या 1454 हो गई। बीएमसी ने बताया कि मुंबई के धारावी में कोविड-19 संक्रमण के गुरुवार को 47 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद यहां कुल संक्रमितों की संख्या 1,425 तक पहुंच गई है। वहीं पिछले 24 घंटे में किसी व्यक्ति की मौत नहीं हुई और मृतकों का आंकड़ा 56 है।