दीपक और पार्वती हुए एक दूजे के...

लॉकडाउन में लिए सात फेरे




अक्षय तृतीय पर यूं तो हर तरफ शहनाइयां गूंजती हैं लेकिन इस बार सन्नाटा है लॉक डाउन में शादियों पर रोक तो नहीं है लेकिन सब कुछ बंद है ऐसे में बारातें कैसे निकलें और शादियां कैसे हो।

दीपक और पार्वती की शादी तो तय हो गई थी लेकिन लॉकडाउन में मुश्किल यह थी शादी कैसे हो। ऐसे में दीपक का परिवार आगे आया और अपने ही खर्च पर गायत्री पीठ नया बाजार की मदद से विवाह संपन्न कराया।

दरअसल यह शादी शिखा वाटिका से होनी थी लेकिन कोरोनावायरस की वजह से लागू लॉक डाउन ने पूरी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

लेकिन होनी को कोई नहीं टाल सकता जो होना है वह होकर ही रहता है दीपक के पिता मुनेश यादव और मां रेखा यादव ने पहल की और दीपक और पार्वती ने सात फेरे लिए।

पार्वती के माता पिता नहीं है उनका एक भाई है जो बाहर है लेकिन वह भी इस शादी में शरीक नहीं हो सका बहरहाल दीपक और पार्वती आज एक दूसरे के हो गए। वर वधु और परिवार के लोगों ने इस मौके पर जहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया वहीं सभी ने मास्क भी लगाए।