लॉकडाउन में पेश की मिसाल...

लॉकडाउन के दौरान पति-पत्नी ने गांव वालों के लिए खोदा कुआं


कुएं से गांव भर के लोग पी सकेंगे पानीनलजल योजना ठप, कुएं से मिलेगी मदद लॉकडाउन के कारण मजदूरों को काम नहीं है. इसी बात को ध्यान में रखकर एक गरीब पति-पत्नी ने 21 दिनों में 25 फुट गहरा कुआं खोद कर पूरे गांव को अचंभित कर दिया.

यह मामला महाराष्ट्र के वाशिम जिले में सामने आया है.ADS वाशिम जिले के मनोरा तहसील के कारखेड़ा गांव के गजानन पकमोड़े मजदूरी कर अपना घर चलाते हैं. लॉकडाउन के कारण काम पर जा नहीं सकते थे. घर में बैठे-बैठे कहीं आलसी न बन जाएं, यह सोचकर गजानन और उनकी पत्नी ने घर के आंगन में कुआं खोदने की ठान ली और दोनों पति-पत्नी कुएं की खुदाई में लग गए.

गांव में उनके दोस्त और नजदीकी लोगों ने उनकी सोच का मजाक उड़ाया, लेकिन दोनों की 21 दिन की मेहनत रंग लाई और 25 फुट खुदाई करने के बाद कुएं में पानी दिख गया. कोरोना पर फुल कवरेज के लिए यहां क्लिफक करें इस वाकये पर गजानन पकमोड़े ने कहा कि कल तक गांव के लोग जो उनका मजाक उड़ा रहे थे, वही आज उनकी प्रशंसा कर रहे हैं. उन्होंने कहा, कोरोना है इसलिए बाहर नहीं जाते. हमने विचार किया कि कुआं खोदते हैं.

पत्नी ने पूजा-अर्चना की, सब गांव के लोग हंसने लगे थे. हम दोनों ने कुएं की खुदाई शुरू कर दी. 21 दिन लगे हमें कुआं खोदने में और उसमें पानी आ गया. हमारे गांव की नल योजना भी बंद है. इससे अब राहत मिलेगी.(वाशिम से जाका खान की रिपोर्ट) कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें l