लॉकडाउन के कारण देशभर में फंसे हुए...

लोगों को उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जाए : चेम्बर


ग्वालियर | लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्न शहरों में फंसे हुए लोगों को उनके गंतव्य स्थान पर जाने की व्यवस्था किए जाने हेतु म.प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री द्बारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केन्द्रीय मंत्री-नरेन्द्र सिंह तोमर, मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा एवं सांसद विवेक नारायण शेजवलकर को चेम्बर ने पत्र प्रेषित किया है|

चेम्बर अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल, उपाध्यक्ष-पारस जैन, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव-ब्रजेश गोयल एवं कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल द्बारा प्रेस को जारी विज्ञप्ति में अवगत कराया है कि कोरोना महामारी के चलते देश में २२ मार्च से ३ मई तक लॉकडाउन घोषित किया गया है|

इस लॉकडाउन के कारण मध्यप्रदेश व अन्य राज्यों के नागरिक देश के विभिन्न शहरों में फंसे हुए हैं| कोरोना महामारी का प्रकोप देश में बढने के चलते लॉकडाउन पूर्व में १४ अप्रैल तक घोषित किया गया था, जिसे बढाकर ३ मई तक कर दिया गया है| केन्द्र सरकार द्बारा इस महामारी से लड़ने के लिए देशभर के जिलों को ग्रीन, ऑरेंज व रेड जोन में बांटा गया है| यह संभावना है कि ३ मई के बाद जो जिले रेड जोन में होंगे वहां लॉकडाउन बढाया जा सकता है|

चेम्बर ने पत्र के माध्यम से मांग की है कि ३ मई के बाद देश हित में जो निर्णय केन्द्र व प्रदेश सरकार द्बारा लिया जायेगा, उसे सभी स्वीकार भी करेंगे लेकिन यह निर्णय जरूर होना चाहिए कि फंसे हुए लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाये| लॉकडाउन के कारण लोगों का धैर्य अब टूटने लगा है, जिसे गुजरात के सूरत शहर में मजदूरों द्बारा की गई आगजनी व मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पर घर जाने के लिए इकट्टा हुये हजारों लोगों की भीड़ से समझा जा सकता है|

जिस प्रकार प्रदेश सरकार द्बारा कोटा में फंसे मध्यप्रदेश के छात्र-छात्राओं को उनके घरों तक पहुंचाकर हजारों परिवारों को खुशियां लौटाई हैं, उसी प्रकार मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों के वो नागरिक जो देश के विभिन्न शहरों में फंसे हुए हैं, उनकी घर वापसी कराई जाना चाहिए| ताकि हजारों परिवारों को उनके बिछड़े परिजनों से मिलाया जा सके|