मुरैना में अभी तक मिले 12 कोरोना पाॅजीटिव...

कोरोना के संक्रमण को रोकने में धर्मगुरूओं से मिलेगा सहयोग : कलेक्टर

 

मुरैना। कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने में विभिन्न धर्मगुरूओं का मिलेगा अच्छा सहयोग। हम इस लड़ाई को धर्मगुरूओं के सहयोग से जीत लेंगे। आवश्यक हो तभी घर से निकलें। नगर निगम मुरैना क्षेत्र में कफ्र्यू लगा दिया गया है। लोग अपने घरों में ही रहें। यह बात यह कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मुरैना में विभिन्न धर्मगुरूओं से कही। इस अवसर पर शहरकाजी, बिहारी जी मंदिर, तप्सी बाबा, घिरोना मंदिर एवं ग्राम पंचायत काजीबसई के समाजसेवी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने कहा कि इसमें घबड़ाने की बात नहीं है। जो लोग विदेश से लौटे हैं या उनके सम्पर्क में आयें है। उन लोंगो को तत्काल चैकअप कराना चाहिये। उन्होंनें कहा कि दिल्ली जमात में से कई लोग मुरैना में लौटकर आये होंगे, उन्होंने धर्मगुरूओं से कहा कि ऐसे लोग अगर मुरैना में आये है तो तत्काल चैकअप करायें। उन्होंने कहा कि इस बीमारी का ईलाज सोशल डिस्टेन्स बनाये रखना ही 14 दिन के लिये जरूरी है। यह चैन टूट जायेगी तो कोरोना समाप्त हो जायेगा।

उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान कोई भी व्यक्ति मंदिर, मस्जिद या पूजा घर के लिये बाहर न निकलें। दवाईयों के लिये बहुत आवश्यक हो, तभी घर से बाहर न निकलें। इस प्रकार का संदेश धर्मगुरू अपने माध्यम से लोंगो को समझाइश देकर सहयोग प्रदान करेें। जो जहां है, वह वहीं 14 दिन के लिये रूके एवं घर से बाहर न निकलें। उन्होंने कहा कि फसल कटाई के लिये कोई रोक नहीं है। किन्तु फसल कटाई के समय सोशल डिस्टेन्स का भी विशेष ध्यान रखा जावे। मुरैना में कोरोना के अभी तक 12 पाॅजीटिव मिले है, घबरायें नहीं ईलाज संभव - डाॅ. आरसी बांदिल

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आरसी बांदिल ने बताया कि अभी तक मुरैना जिले में 31 लोंगो की कोरोना रिपोर्ट लेकर जांच हेतु भेजे गये थे। जिनमें से अभी तक 12 रिपोर्ट पाॅजीटिव पाई गई है, 18 रिपोर्ट निगेटव पाई गई है। उन्हांेंने बताया कि घबरायें नहीं, कोरोना का ईलाज संभव है। इनके लिये चिकित्सक एवं पूरी टीम तैनात है। उन्होंने बताया कि अभी तक मुरैना में 26 हजार 298 होम क्वारेन्टाईन व्यक्तियों की संख्या है।