लॉकडाउन की शर्तों के साथ सब्जी बेचने की दी जाए अनुमति...

सब्जी उत्पादक किसान औऱ छोटे फल व्यवसासियों बर्बाद होने से बचाये प्रशासन : माकपा


ग्वालियर। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने आज कलेक्टर को ज्ञापन देकर मांग की है कि शहर के आसपास गांवों में गिरवाई, बीरपुर, धोकलपुर, भयपुरा, मऊ,जमाहर, भदरौली, सुसरा, आदि गांवो में सब्जी उत्पादक किसानों की सब्जी ना बिक पाने के कारण उनकी सब्जी इस गर्मी के मौसम में खराब हो रही है, प्रशासन ने जो दस स्थान आढ़तियों के लिए चिन्हित किये है उन स्थानों पर किसानों की सब्जी नही बिकने दी जा रही है। 

माकपा ने सुझाव दिया है कि शहर में 10  औऱ स्थानों की चिन्हित कर इन किसानों को लॉक डाउन की शर्तों के साथ सब्जी बेचने की अनुमति दी जाए, ताकि किसान की फ़सल खराब ना हो और जनता को सस्ती सब्जी मिल सके।

माकपा ने जिला प्रशासन से यह भी मांग की है कि छत्री मंडी के पास जो फ्रूट मंडी है वहाँ भी छोटे व्यापारियों के फल खराब हो रहे है, व्यापारियों को भी भले ही रात में चार घंटे के लिए सही मंडी खोलने की सशर्त अनुमति दी जाए, व्यापारियों ने बताया है कि डबरा में ऐसी ही सशर्त अनुमति सी गई है। 

माकपा जिला सचिव अखिलेश यादव ने इस आशय संबंधी एक ज्ञापन कलेक्टर के नाम दिया है। माकपा ने जिला प्रशासन से आग्रह किया है कि इन मांगों पर प्रशासन शीघ्र ही सकारात्मक कार्यवाही कर सब्जी उत्पादक किसानों और छोटे फल व्यवसायियों को बर्बाद होने से बचाने में उनकी मदद करे ! माकपा जिला सचिव अखिलेश यादव के साथ महात्मा फुले फाउंडेशन के सुग्रीव सिंह कुशवाह भी ज्ञापन देने वालो में शामिल थे।