5 हजार से अधिक व्यक्तियों को किया होम क्वारंटाइन…

जिले के 85 नमूनों की कोरोना रिपोर्ट आईं निगेटिव


ग्वालियर। नोवेल कोरोना संक्रमण की जांच के लिये भेजे गए नमूनों में से 103 नमूनों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें 85 नमूने निगेटिव प्राप्त हुए हैं। इसके साथ ही 18 नमूनों में जांच की आवश्यकता नहीं पाई गई है। जिले में अब तक कुल 821 नमूने जांच हेतु भेजे गए, जिनमें 586 नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई हैं।  72 नमूनों में जांच की आवश्यकता नहीं पाई गई है। जिले में अब तक कुल 6 नमूनों में पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिनमें 2 मरीजों को उपचार के पश्चात अस्पताल से छुट्टी कर दी है। 4 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। इन चारों मरीजों की पॉजिटिव रिपोर्ट के पश्चात पुन: जांच कराने पर प्रथम निगेटिव रिपोर्ट भी प्राप्त हो गई है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि ग्वालियर जिले में 5 हजार 483 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। इसके साथ ही एक लाख 78 हजार 689 लोगों की स्क्रीनिंग की गई है।

ग्वालियर में दो केन्टोनमेंट जोन क्षेत्र में सर्वेक्षण का कार्य किया गया है। अब तक एक लाख 4 हजार 676 परिवारों का सर्वेक्षण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिले से सोमवार को 43 नमूने जांच हेतु भेजे गए हैं। ग्वालियर में स्मार्ट सिटी द्वारा विकसित किए गए कोरोना सेम्पल बूथ का उपयोग मुरार चिकित्सालय में प्रारंभ कर दिया गया है। ग्वालियर स्मार्ट सिटी के इंक्युवेशन सेंटर ड्रीम हैचर से अनुबंधित स्टार्ट अप द्वारा यह बूथ विकसित किया गया है। सीईओ स्मार्ट सिटी महिप तेजस्वी ने बताया कि स्मार्ट सिटी व जिला प्रशासन के प्रयासों से इस प्रकार के बूथ तैयार कर अन्य स्थानों पर भी स्थापित किए जायेंगे। ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा शुरू की गई नमस्तेजी की ऑनलाइन सेवाओं को अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध वन सिटी वन एप से जोड़ दिया गया है। कोई भी व्यक्ति एंड्रॉयड फोन पर वन सिटी वन एप डाउनलोड कर इन सेवाओं का लाभ उठा सकता है।

सीईओ स्मार्ट सिटी महिप तेजस्वी ने बताया कि वर्तमान स्थिति में सब्जी, फल, दवाईयां, दैनिक उपयोग की सेवायें जैसे : इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर जैसी आवश्यक सेवाओं की होम डिलेवरी उपलब्ध है। स्मार्ट सिटी द्वारा इंक्युवेशन सेंटर ड्रीम हैचर से अनुबंधित स्टार्ट अप संस्थाओं को जोड़कर जरूरी वस्तुओं तथा सेवाओं को आम जनों तक पहुँचाया जा रहा है। प्रथम दिवस ही 633 ऑर्डर प्राप्त हुए, जिनका निराकरण भी किया गया। उन्होंने बताया कि ऐसे किसान जो फल, सब्जी विक्रय करना चाहते हैं या ऐसी सेवायें प्रदान करना चाहते हैं वह भी ड्रीम हैचर से जुड़ने की सहमति प्रदान कर सकते हैं। यह सुविधा आम जनों के लिये उपयोगी बने, इसके लिये अधिक से अधिक किसानों और सेवा देने वाली संस्थाओं को जोड़ा जा रहा है।