केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष ने साफ कर दिया है कि

नागरिकता कानून से एक इंच पीछे नहीं हटेगी सरकार : अमित शाह 




जोधपुर। केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने साफ कर दिया है कि सरकार नागरिकता कानून (CAA) के मुद्दे पर जरा भी पीछे नहीं हटेगी। शुक्रवार को राजस्थान के जोधपुर में नागरिकता कानून के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि अगर सभी विपक्षी दल एक साथ मिलकर जाते हैं तो भी भारतीय जनता पार्टी नागरिकता कानून के मुद्दे पर एक इंच पीछे नहीं जाएगी।

नागरिकता कानून पर जितना चाहे झूठ फैलाते रहो
अमित शाह ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा ने देशभर में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में जनजागरण अभियान का आयोजन किया है, क्यों ये आयोजन करना पड़ा? क्योंकि जिस कांग्रेस को वोटबैंक की राजनीति की आदत पड़ गई है, उसने इस कानून पर दुष्प्रचार किया है। 

उन्होंने आगे कहा कि CAA पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से हिंदू, सिख, जैन, पारसी, बौद्ध, ईसाई लोग, जो धर्म के आधार पर प्रताड़ित होकर आए हैं, उन्हें नागरिकता देने का कानून है। विपक्षी इसके खिलाफ एकजुट हो जाएं, लेकिन भाजपा इस फैसले पर एक इंच भी पीछे नहीं हटेगी। 

नागरिकता कानून का विरोध कर रहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का जिक्र करते हुए गृह मंत्री ने कहा ''ममता दीदी कह रही हैं कि आपकी लाइने लग जाएंगी, आपसे प्रूफ मांगे जाएंगे। मैं बंगाल में बसे हुए सारे शरणार्थी भाइयों को कहना चाहता हूं कि आपको कोई प्रताड़ना नहीं झेलनी पड़ेगी, आपको सम्मान के साथ नागरिकता दी जाएगी। दीदी से डरने की जरूरत नहीं है। मैं ममता दीदी को कहना चाहता हूं कि बंगाली भाषी शरणार्थी हिंदू, दलितों ने आपका क्या बिगाड़ा है, क्यों इनकी नागरिकता का विरोध कर रही हो?''

अमित शाह ने वीर सावरकर के मुद्दे पर भी कांग्रेस पार्टी को घेरा और कहा ''वीर सावरकर जैसे इस देश के महान सपूत और बलिदानी का भी कांग्रेस पार्टी विरोध कर रही है। कांग्रेसियों शर्म करो-शर्म करो। वोटबैंक के लालच की भी हद होती है। वोटबैंक के लिए कांग्रेस ने वीर सावरकर जैसे महापुरुष का अपमान किया है।