रविदास वंश समाज युवक-युवती वैवाहिक परिचय सम्मेलन…

अजा. व अजजा. के कल्याण के लिए राज्य सरकार तेजी से कार्य कर रही है : मंत्री श्री सिंह



ग्वालियर l 12 जनवरी 2020/ प्रदेश के पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार अपने वचन पत्र के अमल की दिशा में प्रदेश में तेजी के साथ कार्य कर रही है।

उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के कल्याण के लिए सरकार ने वचन पत्र में जो वादा किया था, उस पर तेजी के साथ क्रियान्वयन किया जा रहा है। श्री लाखन सिंह यादव रविवार को रविदास वंश समाज एकता समन्वय द्वारा आयोजित युवक-युवती वैवाहिक परिचय सम्मेलन को मुख्य अतिथि के रूप में  संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम में सुखदेव बागमरे, विधायक मुन्नालाल गोयल, अजाक्स के प्रांतीय सचिव एस एस सूर्यवंशी, लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता आर एल भारतीय, अधीक्षण यंत्री आर एल एस मौर्य, पूर्व सेवानिवृत्त अपर कलेक्टर पी एस जाटव, देवेन्द्र राजौरिया, वर्मा, संभागीय संयोजक देवराज गाँधी सहित जाटव समाज के बड़ी संख्या में महिला-पुरूष आदि उपस्थित थे।

पशुपालन मंत्री लाखन सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें इस स्थान तक पहुँचाने में बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के साथ जाटव समाज का विशेष योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से जहां समाज में आपसी भाईचारा, सदभाव का वातावरण निर्मित होगा, वहीं युवा पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी। सरकार द्वारा समाज के लिए किए जा रहे कार्यों की भी जानकारी होगी।

श्री सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने वचन पत्र में जो वादे किए थे, उसे मुख्यमंत्री कमल नाथ बिंदुवार पूर्ण कर रहे हैं। इसी दिशा में अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के लिए किए गए वादे भी पूर्ण किए जायेंगे। श्री यादव ने कहा कि अनुसूचित जाति वर्ग के व्यक्तियों पर ग्वालियर में पूर्व में जो प्रकरण दर्ज किए गए थे, उनकी समीक्षा कर उन्हें वापस लेने की कार्रवाई राज्य सरकार कर रही है।

कार्यक्रम को विधायक मुन्नालाल गोयल, सुखदेव बागमरे, अजाक्स के प्रदेश महासचिव एस एस सूर्यवंशी, पूर्व अपर कलेक्टर पी एस जाटव, आर एल भारतीय आदि वक्ताओं ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के शुरू में समिति के संयोजक देवराज गांधी ने बताया कि संभागीय जाटव सुधार समिति का गठन 1980 में किया गया था। नई कार्यकारिणी के रूप में संभागीय अध्यक्ष देवेन्द्र राजौरिया के नेतृत्व में यह 49वाँ कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इस अवसर पर एक स्मारिका का भी विमोचन किया गया।