कट...कमीशन...सिंडिकेट, PM मोदी ने बताया
ममता बनर्जी क्यों नहीं लागू करतीं केंद्रीय योजना : मोदी


कोलकाता l कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के 150वें स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में करप्शन का मामला उठाया. पीएम मोदी ने ममता सरकार पर हमला करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार केंद्र की योजनाओं को लागू नहीं कर रही है क्योंकि इन योजनाओं में कट मिलता है, सिंडिकेट काम करता है.

पीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल में आयुष्मान भारत योजना और पीएम किसान सम्मान निधि योजना लागू नहीं है. उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता कि ममता बनर्जी इन योजनाओं को लागू करने की इजाजत देगी या नहीं, लेकिन ज्यों ही ममता इसकी इजाजत देगी यहां के लोगों को इसका लाभ मिलेगा.

पीएम ने कहा कि 75 लाख लोग आयुष्मान योजना के तहत लाभ ले चुके हैं. उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत पश्चिम बंगाल में 90 लाख लोगों को इस स्कीम का लाभ मिला है. इसमें भी 35 लाख से अधिक बहनें आदिवासी और दलित हैं.

पता नहीं आयुष्मान योजना की स्वीकृति देंगी या नहीं
पीएम ने आगे कहा, "जैसे ही राज्य सरकार आयुष्मान भारत योजना...पीएम किसान सम्मान निधि के लिए स्वीकृति दे देगी...मैं नहीं जानता हूं कि देगी या नहीं देगी...लेकिन अगर दे देगी तो यहां के लोगों को इन योजनाओं का भी लाभ मिलने लगेगा."

गरीबों के आशीर्वाद की वजह से चैन से सो पाता हूं
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में लगभग 75 लाख गरीब मरीजों को इस योजना का लाभ मिल चुका है. उनका मुफ्त इलाज हुआ है. कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम बदलकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट रखने की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे गरीब परिवार उन्हें लगातार आशीर्वाद दे देते हैं, इसलिए वे चैन की नींद सो पाते हैं.

केंद्र की योजनाओं में बिचौलिया, सिंडिकेट
ममता पर बरसते हुए उन्होंने कहा कि किसान सम्मान योजना के तहत 8 करोड़ किसानों के खाते में 43000 करोड़ रुपये सीधे गए हैं. पीएम ने कहा, "कोई बिचौलिया नहीं...कोई कट नहीं...कोई सिंडिकेट नहीं और जब सीधा पहुंचता है...कट मिलता नहीं...सिंडिकेट का चलता नहीं...तो ऐसी योजना को क्यों लागू करेगा....देश के 8 करोड़ किसानों को इतनी बड़ी मदद लेकिन मेरे दिल में हमेशा दर्द रहेगा...मैं ईश्वर से प्रार्थना करूंगा कि नीति-निर्धारकों को ईश्वर सदबुद्धि दे और गरीबों को बीमारी में मदद के लिए आयुष्मान भारत योजना और किसानों की जिंदगी में सुख और समृद्धि का रास्ता साफ हो और इसका लाभ उन्हें मिले..." बता दें कि कट मनी को लेकर पश्चिम बंगाल में टीएमसी और बीजेपी के बीच सियासी लड़ाई चलती रहती है.

पीएम ने कहा कि वे बंगाल की जनता का मिजाज जानते हैं, यहां के लोगों की ये ताकत है कि उन्हें इन योजनाओं से वंचित नहीं रखा जाएगा. पीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल के जिन बेटों-बेटियों ने राज्य के लिए आवाज उठाई है, उनका विकास उनकी सरकार की प्राथमिकता है.