उदयुपर की गोगुंदा तहसील के एक गांव में 

घर में 4 फंदे और 6 लाशें खौफनाक मंजर 

उदयपुर l  राजस्थान के उदयपुर जिले में एक ऐसा यादें ताजा कर दी है। बुराड़ी के मकान में वह रोंगटे खड़े कर देने वाला मंजर भी याद आने लगा, जब एक मकान में 10 लोगों की लाशें फांसी के फंदे पर झूल रही थी। ठीक वैसे ही उदयुपर की गोगुंदा तहसील के एक गांव में सामूहिक मौत पुलिस के लिए बनी अबूझ पहेली ये सामूहिक आत्महत्या या हत्या ये पता लगाने में पुलिस जुट गई है l  

उदयपुर की गोगुंदा तहसील में एक गांव है। नाम है गोल नेड़ी। गांव के लोग खेती भी करते हैं और कई लोग शहरों में जाकर भी काम करते हैं। ऐसा ही गांव का एक परिवार था जो आदिवासी समुदाय से आता है। परिवार के मुखिया का नाम था प्रकाश गमेती। उसकी पत्नी की नाम था दुर्गा गमेती। इन दोनों के 4 बच्चे थे महज 3 से 4 माह का गंगाराम, 5 वर्ष का पुष्कर, 8 वर्षीय गणेश और 3 वर्ष का रोशन l 

यह परिवार गांव में खेत के किनारे बने मकान में ही रहता था। वहां प्रकाश और उसके 2 भाईयों के मकान अगल-बगल ही बने हुए थे। प्रकाश गुजरात में काम करता था। सोमवार को रोज की तरह लोग सुबह जाग चुके थे। हर कोई अपने काम पर जाने की तैयारी में था। सूरज चढ़ने के साथ-साथ गांव के लोगों की सरगर्मी भी बढ़ती जा रही थी। इसी बीच प्रकाश का भाई उनके घर आया। उसने दरवाजे पर दस्तक दी। मगर दरवाजा नहीं खुला।