पहले ही आगाह किया था कि वे इस पापी को ना बुलाएं 

जहां-जहां भी धीरेंद्र शास्त्री के पांव पड़ते हैं, अनिष्ट होता है : प्रीतम लोधी

ग्वालियर। प्रीतम लोधी ने एक बार फिर बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री पर निशाना साधा है। भिंड जिले के दंदरौआ धाम में चल रहे सिय पिय मिलन समारोह में कथा के दौरान मची भगदड़ में एक महिला की मौत के लिए उन्होंने धीरेंद्र शास्त्री को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि जहां-जहां भी धीरेंद्र शास्त्री के पांव पड़ते हैं, अनिष्ट होता है।

प्रीतम लोधी ने कहा कि उन्होंने दंदरौआ धाम के महंत रामदास जी महाराज को पहले ही आगाह किया था कि वे इस पापी को ना बुलाएं। दरअसल प्रीतम लोधी के भाजपा से निष्कासन की वजह धीरेंद्र शास्त्री ही हैं। वीरेंद्र शास्त्री को लेकर प्रीतम लोधी द्वारा की गई कथित टिप्पणी से ब्राह्मण एकजुट हो गए और ब्राह्मण के विरोध के चलते भाजपा को प्रीतम लोधी को निष्कासित करना पड़ा। प्रीतम लोधी ने इस बात को भी दोहराया कि उनके समधी की हत्या के पीछे भी बागेश्वर धाम के प्रमुख धीरेंद्र शास्त्री का हाथ है। प्रीतम ने कहा कि बागेश्वर धाम में लूटपाट और जेबकतरी की घटनाएं भी होती हैं।

बहरहाल अपने हालिया बयान के बाद प्रीतम लोधी फिर चर्चाओं में हैं और देखना यह है कि उनके इस बयान के बाद धीरेंद्र शास्त्री प्रीतम लोधी के बारे में क्या कहते हैं। प्रीतम लोधी ने कहा कि भिंड प्रशासन में उन्हें भिंड में बाबा साहेब और संविधान के संदेश को लोगों तक पहुंचाने के लिए सभाएं करने की अनुमति नहीं दी। जबकि वीरेंद्र शास्त्री को सिर आंखों पर बिठाया जा रहा है।