दुनिया की आबादीहुई 8 अरब…

2023 में भारत की जनसंख्या चीन से ज्यादा होगी !


नई दिल्ली। दुनिया की आबादी 15 नवंबर को 8 अरब (8 बिलियन) हो गई। संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के मुताबिक नए अनुमानों से पता चला है कि 2030 तक वैश्विक आबादी करीब 8.5 अरब पहुंच जाएगी। UN ने 2050 तक दुनिया की जनसंख्या 9.7 अरब और 2100 तक 10.4 अरब होने की गणना भी की है। ज्यादातर उन देशों में ही जन्म दर में बढ़ोतरी देखी जा रही है, जहां प्रति व्यक्ति आय बेहद कम है। संयुक्त राष्ट्र की इस गणना के मुताबिक 2023 में भारत के नाम एक और उपलब्धि हो जाएगी। 

चीन को पीछे छोड़ते हुए देश दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाला भारत बन जाएगा। अभी चीन की आबादी 1.44 बिलियन और भारत की आबादी 1.39 बिलियन है। ये दुनिया के दो सबसे अधिक आबादी वाले देश हैं। चिंता की बात यह है कि 1950 के बाद पहली बार ऐसा दौर आया है, जब जनसंख्या बढ़ने की रफ्तार बेहद धीमी हो गई है। वर्ष 2020 में जनसंख्या बढ़ोतरी की दर 1 प्रतिशत से भी कम रही है। जनसंख्या को लेकर 2022 में सामने आए UN के इस अनुमान के मुताबिक पिछले कुछ दशकों में कई देशों में प्रजनन क्षमता तेजी से गिरी है। विश्व की आबादी का दो-तिहाई हिस्सा ऐसे क्षेत्र में रहता है, जहां महिलाओं की प्रजनन दर 2.1 फीसदी से भी कम है।

रिपोर्ट के मुताबिक 2022 में दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाले 2 क्षेत्र एशिया से हैं। इनमें दक्षिण-पूर्वी एशिया (2.3 अरब) और मध्य-दक्षिणी एशिया क्षेत्र में 2.1 अरब जनसंख्या के साथ शामिल हैं। इन दो क्षेत्रों में भी ज्यादा आबादी का कारण चीन और भारत हैं। दोनों ही देशों की आबादी का अनुमान 1.4 अरब से ज्यादा लगाया गया है। वर्ष 2050 तक दुनिया की आबादी में होने वाली बढ़ोतरी 8 देशों पर केंद्रित रहेगी। इसमें भारत, पाकिस्तान, कांगो, मिस्र, इथियोपिया, नाइजीरिया, फिलीपींस और तंजानिया शामिल हैं।