मामले की जानकारी लगते ही सक्रिय हुई पुलिस ...

श्मशान घाट से पुलिस ने वापिस उठाई अर्थी


ग्वालियर l शिवपुरी में गुरूवार को उस समय हड़कंप पूर्ण स्थिति निर्मित हो गई जब फिजिकल थाना पुलिस टीम एकाएक मुक्तिधाम पर जा पहुंचा, पुलिस ने श्मशान घाट पहुँचने के बाद यहां पर अंत्येष्टि के लिए लाए गए एक नवविवाहिता के शव को अर्थी सहित यहां से उठवाकर आपे बाहन में रखबाते हुए सीधा पीएम हाउस ले जाने के बाद मृतक नवविवाहिता का पोस्टमार्टम कराया है। 

दरअसल जिस नवविवाहिता की मौत हुई है उसने लगभग चार माह पहले अपने प्रेमी संग घर से भागकर प्रेम विवाह किया था और बीते रोज ग्वालियर में उपचार के दौरान नवविवाहिता की मौत हो गई थी, जिसके बाद मृतिका की माँ ने ससुरालीजनों पर गंभीर आरोप जड़ते हुए पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम करते हुए प्रेम विवाह करने बाली नवविवाहिता का पीएम कराया है, तब कहीं जाकर देर दोपहर शव का अंतिम संस्कार हुआ है।

यह था पूरा मामला कुछ इस प्रकार से है नवविवाहिता सुगन्धी पति दीपक शाक्य, जो कि अपने परिवार सहित शहर की फक्कड़ कॉलोनी में निवास करता है, पिछले दिनों सुगंधी की तबियत खराब होने के चलते उसे दीपक ने उपचार हेतु जिला अस्पताल में भरती कराया था, सुगंधी की हालत में सुधार न होने के चलते उसे जिला अस्पताल से शिवपुरी मेडिकल कॉलेज के लिए रैफर कर दिया गया था, बताया जाता है कि 11 अक्टूबर के दिन सुगंधी को शिवपुरी मेडिकल कॉलेज से उपचार हेतु ग्वालियर रैफर किया गया था, जहाँ दौराने उपचार 12 और 13 अक्टूबर की रात सुगंधी की मौत हो गई। 

नवविवाहिता की मौत के बाद आज सुगंधी के शव को उसके ससुरालीजनों के द्बारा अंतिम संस्कार के लिए मुक्तिधाम लेकर गए थे, इसी दौरान सुगंधी की माँ जानकी आदिवासी ने सम्बन्धित थाना फिजिकल पहुँचकर पुलिस को शिकायत दर्ज कराई की उसकी बेटी सुगंधी को ससुरालीजनों ने जहर देकर मार डाला है और उसका अंतिम संस्कार करने मुक्तिधाम गए है, शिकायत सामने आने के बाद पुलिस सक्रिय हुई और आनन-फानन में श्मशान घाट पहुँचकर सुगंधी की अर्थी को एक आपे बाहन में रखबाकर इसे पीएम हाउस लाकर मार्ग कायम करते हुए शव का पोस्टमार्टम कराया है।

दीपक शाक्य और सुगंधी का पिछले लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था, बताया जाता है की इन दोनों के परिजन दीपक और सुगंधी का विवाह कराने के लिए तैयार नही थे, जिसके चलते दोनों ने माह जून 2022 में घर से भागकर ग्वालियर में आर्य समाज मन्दिर से प्रेम विवाह कर लिया था, इसके बाद दोनों शिवपुरी की फक्कड़ कॉलोनी में रह रहे थे, दीपक का कहना है कि उसकी पत्नी को शुगर की बीमारी थी, दीपक ने बताया है कि पिछले दिनों सुगंधी की शुगर अधिक बढ़ गई थी, जिसके चलते उसे पहले शिवपुरी के जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज और फिर ग्वालियर उपचार के लिए लेकर गए थे जहां उसकी मौत हो गई है।

मृतक नवविवाहिता सुगंधी की मां जानकी ने दीपक और उसके परिजनों पर गंभीर आरोप जड़ते हुए कहा है कि उसकी बेटी को ससुरालीजनों ने खाने में कुछ मिलाकर खिला दिया जिससे उसकी मौत हुई है, वही दूसरी ओर दीपक के परिजन हरिशंकर शाक्य का आरोप है कि सुगंधी की माँ जानकी सुगंधी की मौत के बाद से ही रूपयों की मांग कर रही थी, हरिशंकर ने आगे जानकारी देते हुए बताया है कि जानकी, सुगंधी के पूरे इलाज के दौरान शिवपुरी और ग्वालियर में भी साथ में रही है, लेकिन सुगंधी की मौत के बाद वह ग्वालियर से भागकर शिवपुरी आ गई और पुलिस को लेकर मुक्तिधाम पर पहुँची थी।