ममता बनर्जी ने की आरएसएस की तारीफ तो ...

विपक्षी दल हुए ममता बनर्जी पर हमलावर ! 


सांकेतिक तस्वीर 

कोलकाता । तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को लेकर एक बयान देकर राजनीतिक पंडितों को चौंका दिया है। उन्होंने परोक्ष रूप से इस संगठन की तारीफ करते हुए कहा कि आरएसएस में सभी बुरे नहीं हैं। उनके इस बयान के बाद कांग्रेस से लेकर सीपीआई (एम) और एआईएमआईएम तक कई विपक्षी दल उनपर हमलावर हैं। विपक्ष ने उन्हें अवसरवादी करार दिया है। आपको बता दें कि बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा, ”आरएसएस पहले इतना बुरा नहीं था। मैं नहीं मानती कि वे (आरएसएस) बुरे हैं। आरएसएस में कई अच्छे लोग हैं और वे भाजपा का समर्थन नहीं करते हैं। उनके इस बयान के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ममता बनर्जी के खिलाफ सबसे तेज हमला किया। उन्होंने कहा, “2003 में भी उन्होंने आरएसएस को देशभक्त कहा था और बदले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने उन्हें दुर्गा कहा था।” आपको बता दें कि ओवैसी की पार्टी पिछले विधानसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल में मुस्लिम बहुल निर्वाचन क्षेत्रों में भी एक सीट नहीं जीत सकी थी।

उस चुनाव में ओवैसी ने खुद को टीएमसी और भाजपा दोनों के ही विरोध में खड़ा किया था। आरएसएस पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि वह “हिंदू राष्ट्र” चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने गुजरात दंगों के बाद संसद में भाजपा सरकार का बचाव किया था। एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा, “उम्मीद है कि टीएमसी के मुस्लिम चेहरे उनकी ईमानदारी और निरंतरता के लिए उनकी प्रशंसा करेंगे। वहीं, पश्चिम बंगाल कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने कहा, “यह पहली बार नहीं है कि ममता बनर्जी ने आरएसएस की प्रशंसा की है।” ओवैसी की टिप्पणी को दोहराते हुए चौधरी ने कहा, “ममता बनर्जी ने आरएसएस के एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में भाग लिया था। उन्होंने तत्कालीन वाम मोर्चा सरकार को गिराने के लिए उनका समर्थन मांगा था। इससे पहले भी ममता ने उस आरएसएस के प्रति आभार व्यक्त किया था, जिसे भाजपा का वैचारिक जनक माना जाता है।