ईसाई धर्म गुरु PC सिंह का डी कनेक्शन...

दाऊद के गुर्गे से 3 करोड़ में किया जिमखाना का सौदा

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर में धार्मिक संस्था की आड़ में काली कमाई से ऐश कर रहा द बोर्ड ऑफ एजुकेशन चर्च ऑफ नार्थ इंडिया के बिशप पीसी सिंह रोज नए नए आरोपों में घिरता जा रहा है. ईओडब्ल्यू द्वारा उसके निवास एवं कार्यालय पर की गई कार्रवाई के बाद रोज एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं. जिसकी चर्चा मध्यप्रदेश सहित देश के कई राज्यों में हो रही है. लेकिन अब इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है जिसने ईओडब्ल्यू को चौंका दिया है.बिशप का डी कनेक्शन आया सामने: सूत्रों की माने तो बिशप पीसी सिंह चार्टर्ड प्लेन से देश विदेश की सैर किया करता था. हैरानी की बात तो यह है की धनकुबेर बिशप पीसी सिंह का अब एक और नया कनेक्शन सामने आया है. अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खास गुर्गे रियाज भाटी से बिशप का कनेक्शन बताया जा रहा है. बिशप ने रियाज भाटी से मिशनरी के मुंबई स्थित जिमखाना का सौदा 3 करोड़ रुपये में किया था, जिसका एग्रीमेंट मुंबई पुलिस ने रियाज भाटी से पूर्व में ही जब्त कर लिया है. इसको लेकर मुंबई पुलिस बिशब पीसी सिंह से पूछताछ भी कर चुकी है.

मुख्यमंत्री ने ईओडब्ल्यू को दिये जांच के आदेश: ईओडब्ल्यू की कार्रवाई के बाद मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं. मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक कर अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा है कि धर्मांतरण पैसों का उपयोग कहा किया जाता था. इन सभी बिंदुओं पर जिला प्रशासन और ईओडब्ल्यू की टीम जांच करे. करोड़ों की संपत्ति का खुलासा: ईओडब्ल्यू की टीम को सर्च कार्रवाई के दौरान 1 करोड़ 65 लाख रूपए नगद, 18 हजार 552 डॉलर, 118 पाउंड, 8 लग्जरी कार, 90 लाख रुपये की डिस्कवरी कार, 48 बैंक खाते, 17 प्रोपर्टी के दस्तावेज सहित अन्य दस्तावेज मिले थे. जिसके आधार पर ईओडब्ल्यू ने बिशप पीसी सिंह, बीएस सोलंकी तत्कालीन असिस्टेंट रजिस्ट्रार फर्म्स एंड संस्थाएं के विरुद्ध धारा 406, 420, 668, 47, 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया था. इसके साथ ही उत्तरप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ और मध्यप्रदेश में ऐसे ही मामलों में बिशप पीसी सिंह और उसके साथियों पर करीब 100 से ज्यादा मामले दर्ज हैं. जिसमे करीब 35 मामलों में बिशप पीसी सिंह नामजद आरोपी बनाया गया है.प्रॉपर्टी कारोबारी के चार्टर्ड प्लेन से करता था विदेशों की सैर: के बताया जा रहा है कि केंद्रीय एजेंसियों को छत्तीसगढ़ निवासी नितिन लॉरेंस द्वारा एक शिकायत दी गई थी. जिसमें बताया गया था की लग्जरी लाइफ का शौकीन बिशप प्रॉपर्टी कारोबारी पॉल दिनाकरन का भी दोस्त है दिनाकरन को जमीन खरीदने का काफी शौक है. इस शौक को पूरा करने का काम बिशप पीसी सिंह ने किया. जिस कारण पॉल दिनाकरन के चार्टर्ड प्लेन का उपयोग बिशब पीसी सिंह करता था. नितिन के मुताबिक दिनाकरन का विमान नागपुर हवाई अड्डे पर स्थाई रूप से खुद के उपयोग के लिए पार्क रहता है. बिशप पीसी सिंह इसी विमान से परिवार समेत विदेश की सैर करता था.

दाऊद के गुर्गे से 3 करोड़ में किया जिमखाना का सौदा: बताया रहा है कि जबलपुर डायोसिस के चेयरमैन और ईसाई धर्मगुरु बिशप पीसी सिंह ने धर्मांतरण के बाद ईसाई धर्म अपनाया था. मुंबई में जॉन विल्सन कॉलेज एंड सोसायटी के नजदीक की जमीन पर चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया सीएनआई ने जिमखाना बनाया हुआ है. सीएनआई (चर्च ऑफ नार्थ इंडिया) के सीनेट में बिशप मेंबर थे. 2017 में उन्हें सीनेट का मॉडरेटर चुन लिए गया. इसी दौरान मॉडरेटर की हैसियत से उन्होंने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के राइट हैंड रियाज भाटी से जिमखाना का सौदा किया था. जिमखाना को लीज पर देने के बदले बिशप ने रियाज से करीब 3 करोड़ रुपए बतौर एडवांस भी लिए थे. इस बीच, मुंबई पुलिस ने एक मामले में रियाज भाटी को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ और तलाशी में पुलिस को सौदे का एग्रीमेंट मिला था. जिसे बिशप ने फर्जी करार दिया था. सीनेट की मंजूरी के बिना जिमखाने को लीज पर दिए जाने का और जमीन सरकारी होने का खुलासा हुआ, इसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने संबंधित एग्रीमेंट को निरस्त घोषित करते हुए शून्य कर दिया था.मिशनरी की जमीनों को लीज पर देकर कमाया मुनाफा: खुद सीएनआई के रिकॉर्ड के मुताबिक बिशप पीसी सिंह को अक्टूबर 2017 में सीनेट के 27 डायोसिस में अध्यक्ष चुना गया था. उसका कार्यकाल तीन साल का था. वर्ष 2020 में कार्यकाल खत्म होने पर कोरोना का हवाला देकर उन्होंने स्वयं ही अपना कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ा लिया. इसके बाद से अब तक चुनाव नहीं कराए गए. उल्टा बिशप ने मिशनरी की कई जमीनों को खुद के फायदे के लिए लीज पर देकर और बेचकर मुनाफा कमाया. बहरहाल बिशप पीसी सिंह विदेश में है और ईओडब्ल्यू पूछताछ के लिए पीसी सिंह को समन भेज सकती है।