सीएम हेल्प लाइन पर आने वाली...

शिकायतों का निराकरण आपसी समन्वय बनाकर करें: निगमायुक्त 



ग्वालियर l30 अगस्त l  सीएम हेल्पलाइन पर आने वाली शिकायतों के निराकरण शिकायतकर्ता की संतुष्टि के साथ ही बंद की जाए। इसके साथ ही सभी अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर अपनी-अपनी शिकायतों का निराकरण करें। सीएम हेल्प लाइन की शिकायतों को गंभीरता से लें। उक्ताशय के निर्देश नगर निगम आयुक्त श्री किशोर कन्याल ने सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए दिए। बैठक में अपर आयुक्त श्री मुकुल गुप्ता, अपर आयुक्त वित्त श्रीमती रजनी शुक्ला, नोडल अधिकारी सीएम हेल्प लाइन श्री प्रदीप श्रीवास्तव सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।      

निगम के प्रशासनिक भवन के सभागार में आयोजित बैठक में निगमायुक्त श्री कन्याल ने सीएम हेल्पलाइन के लंबित प्रकरणों की समीक्षा की, समीक्षा के दौरान निगमायुक्त श्री कन्याल ने सीएम हेल्पलाइन एवं पत्रों का रिव्यु करते हुए कहा कि गत माह कि 3284 सीएम हेल्पलाइन पेंडिंग है। जिसमें सबसे ज्यादा प्रकाश व्यवस्था एवं सीवरेज की है। स्वच्छता, भवन अनुज्ञा, अतिक्रमण, आवारा पशु, आवारा कुत्ते, राजस्व, पेयजल, उद्यान, पार्किंग, जन कल्याणकारी योजना एवं अतिक्रमण से संबंधित शिकायतें हैं, सभी शिकायतों का तत्काल निराकरण करें।

इसके साथ ही निगमायुक्त श्री कन्याल ने कहा कि लोकायुक्त व ईओडब्ल्यू के पत्रों का जबाब समय सीमा में दें। साथ ही सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट व डिस्ट्रीक्ट कोर्ट के पत्रों का जबाव गंभीरता के साथ एक सप्ताह में दें। इसके साथ ही उन्होंने सीएम हेल्प लाइन पर आने वाली समस्याओं के संबंधित अधिकारियों से बारी-बारी से समस्याओं को जाना व उनके त्वरित निराकरण के निर्देश दिये। इसके साथ ही जनप्रतिनिधियों के आने वाले पत्रों के जबाव संतुष्टि के साथ समय सीमा में देने के निर्देश दिये।